मौत:गोरौल पीएचसी की कर्मी व एलआईसी मैनेजर की मौत

गोरौल6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में कोरोना का हॉटस्पॉट बना गोरौल में सरकारी कर्मियों के बीच कोरोना ने आज फिर कोहराम मचा दिया। प्रखंड क्षेत्र में आज फिर कोरोना ने एक नर्स सहित दो सरकारी कर्मी की जान ले ली। मृतक में से एक गोरौल पीएचसी की नर्स है जबकि दूसरे मृतक एलआईसी गोरौल शाखा के मैनेजर हैं। जानकारी के अनुसार गोरौल पीएचसी में 5 डॉक्टर, ये मृतका नर्स एवं अन्य दो स्टाफ सहित 8 कोरोना के पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। अबतक गोरौल में कोरोना संक्रमण से 7 सरकारी कर्मी मरें : पीएचसी की नर्स उषा कुमारी की आज कोरोना से मौत हो गई। नर्स उषा कुमारी पटना के मंदिरी मोहल्ले की रहने वाली है जहां से वह ड्यूटी पर आती रही है। सोमवार को भी वह डयूटी की है। तबियत गड़बड़ समझ में आई तो वह मंगलवार को गोरौल पीएचसी में एन्टीजिन टेस्ट कराई थी जिसमें रिपोर्ट निगेटिव आया था। लेकिन घर पर आराम करने की सलाह के साथ उसे घर भेज दिया गया। घर पर पटना में हालत बिगड़ने पर मंगलवार की रात परिजन एक अस्पताल में उसे भर्ती कराए जहां वह दम तोड़ दी।

बाद में डेड बॉडी की हुई कोरोना जांच में वह कोरोना संक्रमित मिली। आज कोरोना से मृतक दूसरे सरकारी कर्मी एलआईसी गोरौल शाखा के मैनेजर अनिल चौधरी हैं। ये भी पटना के रहने वाले हैं। एलआईसी के एक प्रशासनिक पदाधिकारी मंजर इमाम एवं एलआईसी के सीएसपी संचालक प्रभु साह की मौत भी कोरोना से हो चुकी है। तुर्की बांदे के शिक्षक पप्पू कुमार, धाने गोरौल गांव के एक रेलकर्मी रणविजय चौरसिया एवं गोरौल गांव के एक रिटायर्ड शिक्षक रमेश झा उर्फ रामचंद्र झा की मौत कोरोना से हो चुकी है।

लालगंज में 190 की जांच में 06 पॉजिटिव
ज्ञात हो कि बुधवार को 190 लोगों का जांच किया गया जिसमें 06 लोग पॉजिटिव पाए गए। पॉजिटिव पाए गए लोगो मे घटारो, गांव के दो, मथुरापुर लालगंज के एक, पोझिया लालगंज का एक, चंदवारा लालगंज का एक, शीतल भूकरहर गांव एक व्यक्ति शामिल है। इस संबंध में रेफरल अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. शशिभूषण प्रसाद ने बताया कि सभी मरीजों को होम क्वारेंटाइन में रखा गया है। मेडिकल टीम स्थानीय प्रशासन के सहयोग से सभी पॉजिटिव मरीजों की ट्रैवल हिस्ट्री खंगालने में जुटी है।

खबरें और भी हैं...