सुब्रत राय की गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट की रोक:पटना हाईकोर्ट के गिरफ्तारी वारंट पर लगाया स्टे, इंवेस्टर्स का पैसा नहीं लौटाने का आरोप

पटना3 दिन पहले

सहारा इंडिया के मालिक सुब्रत राय के खिलाफ गिरफ्तार वारंट जारी होने के महज तीन घंटे बाद ही सुप्रीम कोर्ट ने इस पर स्टे लगा दिया। अब अगले आदेश तक सुब्रत राय की गिरफ्तारी नहीं होगी। इंवेस्टर्स को रुपए नहीं लौटाने के मामले में सहारा इंडिया के मालिक सुब्रत राय के खिलाफ पटना हाईकोर्ट ने गिरफ्तार वारंट जारी किया था। जिस पर जस्टिस ए.एम खानविलकर की बेंच ने स्टे लगा दिया है।

राय के वकील कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, 'सुब्रत राय सहारा को मामले में बिना काम घसीटा जा रहा है।'

जस्टिस खानविलकर ने जानना चाहा कि क्या सुब्रत राय अग्रिम जमानत के लिए गए थे। इस पर कपिल सिब्बल ने कहा कि हम इस मामले में किसी प्रकार से नहीं जुड़े हुए थे। इतना सुनते ही उच्चतम न्यायालय ने राय की गिरफ्तारी व सशरीर उपस्थिति होने पर अंतरिम रोक का आदेश पारित कर दिया। मामले की अगली सुनवाई 19 मई को होगी।

तीन राज्यों के DGP को सुब्रत राय​​​​​​​ को अरेस्ट कर पेश करने का दिया था आदेश

इससे पहले पटना हाईकोर्ट ने बिहार, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के DGP को राय को गिरफ्तार करने का आदेश दिया था। हाईकोर्ट ने एक दिन पहले सुब्रत राय को कोर्ट में पेश होने का अल्टीमेटम दिया था, लेकिन वे नहीं आए। हाईकोर्ट के सामने वकील ने सुब्रत राय की मेडिकल रिपोर्ट पेश की। जस्टिस संदीप कुमार ने मेडिकल रिपोर्ट देखकर कहा कि सुब्रत राय को ऐसी कोई बीमारी नहीं है कि वे कोर्ट नहीं आ सकते।

निवेशकों ने हाईकोर्ट में रुपए लौटाने के लिए पटना हाईकोर्ट में याचिका लगाई हुई है। इस मामले में कोर्ट ने 12 मई को पेश होने के लिए कहा था, लेकिन सुब्रत राय ने अंतरिम आवेदन देकर पेशी से छूट मांगी थी, जिसे कोर्ट ने गुरुवार को खारिज कर दिया था। जस्टिस संदीप कुमार ने आदेश दिया था कि शुक्रवार को हर हाल में सुबह 10:30 बजे सहारा इंडिया के मालिक सुब्रत राय को हाजिर होना होगा। कल अगर यह फिजिकली नहीं आए तो फिर हाईकार्ट इनकी गिरफ्तारी का वारंट जारी करेगा।

हाईकोर्ट ने की थी कड़ी टिप्पणी

जस्टिस संदीप कुमार ने सुनवाई के दौरान कहा कि सुब्रत राय हाईकोर्ट से बड़े नहीं हैं। आज नहीं आ कर उन्होंने बड़ी गलती कर दी है। सवालिया लहजे में हाईकोर्ट ने कहा कि कौन हैं ये सुब्रत राय सहारा जो कोर्ट नहीं आ सकते हैं? इन्हें कोर्ट आना होगा, ये देखना होगा कि लोग यहां कैसे परेशान हैं?

बीमारी की बात कहकर छूट मांगी थी

सुब्रत राय की तरफ से वकील ने अंतरिम आवदेन जमा किया था। आवेदन के जरिए सुब्रत राय ने हाईकोर्ट से अपील की थी। अपील में कहा था कि मेरी उम्र 74 साल हो चुकी है। जनवरी महीने में ऑपरेशन कराया था। अभी भी बीमार हूं। इस कारण फिजिकल तौर पर पेश होने से राहत दी जाए। मुझे वर्चुअल तरीके से कोर्ट में पेश होने की अनुमति दी जाए। आवेदन के जरिए सहरा के मालिक ने यह भी कहा कि इंवेस्टर्स के रुपए लौटाने के लिए उनके पास डीटेल्ड प्लान तैयार है। साथ ही, तत्काल में वो 5 करोड़ रुपए जमा करने को भी तैयार हैं। इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट के पास भी एक याचिका दायर की गई है।

यह भी पढ़ें : सहारा इंडिया के मालिक को लगा बड़ा झटका

खबरें और भी हैं...