पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लंबी सुनवाई:हाईकाेर्ट ने कोरोना मरीजों को दवा-बेड-ऑक्सीजन नहीं मिलने पर तलब की रिपोर्ट

पटना23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • एम्स निदेशक बोले- रेमडेसिविर कोविड इलाज के लिए है ही नहीं
  • हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा- फिर 6.5 करोड़ का ऑर्डर क्यों दिया

पटना हाईकोर्ट ने सोमवार को कोरोना मामले पर रेमेडिसिवर इंजेक्शन पर लंबी सुनवाई की। सुनवाई के दाैरान एम्स के निदेशक डाॅ. पीके सिंह ने कहा कि “ रेमेडिसिवर इंजेक्शन कोविड इलाज के लिए है ही नहीं “ये न तो कोविड -19 के इलाज के लिए है और न ही प्रोटोकॉल में कहीं उल्लेखित है!

इस पर हाईकोर्ट ने हैरानी जताते हुए सुनवाई में मौजूद स्वास्थ्य महकमे के आला अधिकारियों से पूछा कि फिर किस आधार पर सरकार ने 6.49 करोड़ का ऑर्डर रेमडेसिविर के लिए दिया है ? जस्टिस चक्रधारी शरण सिंह व जस्टिस मोहित कुमार शाह की खण्डपीठ ने इस बाबत राज्य सरकार को बुधवार काे हाेने वाली अगली सुनवाई तक जवाब पेश करने का आदेश दिया। कहा-कोर्ट में रिपोर्ट पेश करें की कोविड -19 की इलाज में रेमिडिसिवर कितनी कारगर है। एम्स निदेशक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े थे। उन्होंने कहा कि रेमेडिसिवर की सप्लाई की कमी पर बेवजह डर फैला हुआ है।दवा-बेड की

कमी से मरीज की मौत मानवाधिकार का उल्लंघन

ज​​​​​स्टिस चक्रधारी शरण सिंह व जस्टिस मोहित कुमार शाह की खण्डपीठ ने जनहित याचिकाओं पर कहा कि कोरोना के दूसरे फेज में ऑक्सीजन, इमरजेंसी दवा व बेड की कमी से किसी कोरोना मरीज की मौत होना मानवाधिकार का उल्लंघन है। इसलिए बिहार राज्य मानवाधिकार आयोग के सचिव को कोर्ट ने निर्देश दिया कि वो मंगलवार 20 अप्रैल को पटना एम्स के निदेशक के साथ मिलकर एनएमसीएच का निरीक्षण कर वहां के हालात की रिपोर्ट अगली सुनवाई को दें। एक अन्य मामले में हाईकाेर्ट ने राज्य सरकार से पूछा, राज्य में रेगुलर ड्रग कंट्राेलर क्याें नहीं?

हाईकोर्ट ने पूछा- ऑक्सीजन की कमी पूरी हुई या नहीं?

हाईकाेर्ट ने राज्य सरकार से कहा कि पटना सहित राज्य के तमाम डेडिकेटेड कोविड सेंटर, कोविड केयर सेंटर्स में ऑक्सीजेंन की कमी पूरी हुई या नहीं? इसका ब्याेरा अगली सुनवाई में दें। बिहटा स्थित ईएसआई अस्पताल में भारतीय सेना के 5 डॉक्टर व 15 नर्सिंग स्टाफ पहुंच चुके हैं इसलिए उसे अगली सुनवाई होने तक चालू करने का केंद्र सरकार को निर्देश दिया। राजेन्द्र नगर स्थित केंद्रीय नेत्र अस्पताल व कंकड़बाग में मेदांता अस्पताल को कोविड सेंटर्स में जितना जल्दी हो उसे शुरू करने का राज्य सरकार को हाईकाेर्ट ने निर्देश दिया। पटना हाईकोर्ट के एक अफसर कि कोविड से मौत अस्पताल में ऑक्सीजेन सप्पलाई की कमी के कारण हुई या किस परिस्थिति में हुई इसकी रिपोर्ट हाईकोर्ट के महानिबंधक से तलब की गई है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें