हिट-कोविड एप करेगा कोरोना की निगरानी:होम आइसोलेशन में मरीज की हालत बिगड़ी तो विभाग हो जाएगा अलर्ट; ऑक्सीजन लेबल की भी मिलेगी जानकारी

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अब होम आइसोलेशन में मरीजों की हालत बिगड़ी तो विभाग तक को अलार्म हो जाएगा। स्वास्थ्य विभाग ने एक ऐसा मोबाइल एप तैयार किया है, जिससे होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की हर दिन निगरानी की जा सकेगी। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि 48 घंटे में एप काम करने लगेगा, इसके लिए जिला और ब्लॉक स्तर पर ट्रेनिंग दी जा रही है।

जानिए कैसे होगी निगरानी
एप संबंधित क्षेत्र की आशा और ANM (Auxiliary Nurse Midwife) के टैब में होगा। वह अपने अपने क्षेत्र में होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की पूरी निगरानी करके उनका पूरा डेटा हर दिन इस एप में अपलोड कर देंगी। इसमें ऑक्सीजन लेबल से लेकर बुखार तक का पूरा लेखा जोखा होगा। इसकी मॉनिटिरंग हर दिन होती रहेगी। एप आटो अपडेटेड होगा और ब्लाक जिला और मुख्यालय से लेकर विभाग तक से कनेक्ट होगा। ऐसे में किसी भी मरीज की हालत में थोड़ा भी इनबैलेंस हुआ तो अलार्म ब्लॉक से लेकर मुख्यालय और विभाग तक को हो जाएगा। इससे संबंधित मरीज को ट्रैक कर उसे अस्पताल भेजने की व्यवस्था बनाई जाएगी।

कोरोना की दूसरी लहर में भी हुआ था प्रयोग
स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत का कहना है कि अब होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग “हिट-कोविड एप” द्वारा ही की जाएगी।. “हिट-कोविड एप” से मॉनिटरिंग की शुरुआत पिछले वर्ष 17 मई को की गई थी और इससे करीब डेढ़ लाख मरीजों की मॉनिटरिंग की गई थी।

हर दिन करीब 15 हजार मरीजों पर इस एप द्वारा नजर रखी जा सकी थी और करीब 300 मरीजों को इस एप द्वारा ट्रैक कर अस्पताल की सुविधा उपलब्ध कराई गई। इस एप से अधिक संख्या में मरीजों की जान बचाई गई। प्रत्यय अमृत ने बताया कि इस एप की तारीफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कर चुके हैं। विभाग का दावा है कि आपात स्थिति में एप की मदद से मरीजों की जान बचाई जा सकेगी।