कार में धक्का लगने पर विवाद:पटना में सारण कमिश्नर के पति ने पूर्व मंत्री की बेटी से की धक्कामुक्की, दामाद को पीटा

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व मंत्री के दामाद हैं कार शोरूम के मालिक, उन पर चालक ने किया हमला। - Dainik Bhaskar
पूर्व मंत्री के दामाद हैं कार शोरूम के मालिक, उन पर चालक ने किया हमला।

सारण की कमिश्नर पूनम की मौजूदगी में उनके पति समीर ने पटना के कार शोरूम मालिक हरषेंद्र कुमार की पत्नी विदिशा सिंह के साथ धक्कामुक्की की। विदिशा पूर्व मंत्री वीणा शाही की बेटी हैं। पूनम के ड्राइवर ने हरषेंद्र कुमार के साथ मारपीट की। गाली-गलौज भी की। घटना शास्त्रीनगर थाना के शिवपुरी में बुधवार काे हुई।

विदिशा का परिवार शिवपुरी के कैलाश इंक्लेव में रहता है। पूनम का मकान भी कैलाश इंक्लेव से कुछ दूरी पर ही है। घटना उस वक्त हुई जब कारोबारी की खड़ी कार काे कमिश्नर की गाड़ी के चालक ने धक्का मार दिया। जब कारोबारी ने इसका विरोध किया ताे मामला बढ़ गया।

इस बाबत कारोबारी की पत्नी विदिशा शाही ने मारपीट, गाली-गलौज और धक्कामुक्की करने की लिखित शिकायत की है। शास्त्रीनगर थानेदार रामशंकर सिंह ने कहा कि लिखित शिकायत मिली है। पुलिस मामले की छानबीन करने के बाद प्राथमिकी दर्ज करेगी।

माफी मांगने को कहने पर बढ़ा विवाद
विदिशा का कहना है कि उसे शाम में परिवार के साथ बाहर जाना था। उनका चालक सोनू कुमार होंडा कार लगाए हुए था। इसी बीच कमिश्नर की गाड़ी ने मेरी कार में ठोकर मार दी। सोनू ने जब इसका विरोध किया ताे उनके चालक और बॉडीगार्ड सोनू से उलझ गए। उस वक्त मैं और पति दोंनों बालकनी में थे।

पति ने उनके चालक से कहा कि एक ताे कार में धक्का मार दिया और फिर उससे उलझ गए। चालक से माफी मांगाे। इस पर उनके चालक व बॉडीगॉर्ड ने कहा कि माफी नहीं मांगेंगे। नीचे आओ ताे बताते हैं। पति और मैं दोनों नीचे आई ताे चालक व तीन-चार लाेग पति से उलझ गए। उनका कॉलर पकड़ लिया।

मामला सुलझाने घर गई तो धक्का मारा
विदिशा ने कहा कि उसके बाद मैं और पति पूनम के घर पर मामले काे हल करने चली गई। पूनम भी घर पर थीं। पूनम के पति ने मुझे धक्का दे दिया और मेरी 66 साल की सास प्रतिमा सिंह काे जाने के कहा। लिखित शिकायत में विदिशा ने अपनी कार का नंबर बीआर 01 टीसी 219/4 और उनके गाड़ी का नंबर बीआर 04 पीए- 2643 दिया है। थाना में लिखित शिकायत हाेने के बाद पूनम से उनका पक्ष जानने के लिए उनके सरकारी मोबाइल नंबर पर फोन किया। उन्हें एसएमएस और व्हाट्सएप किया गया पर उन्होंने काेई जवाब नहीं दिया।

खबरें और भी हैं...