• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Industry Minister Shahnawaz Hussain Said Transparency Will Select The Beneficiaries Of The Entrepreneur Scheme, Will Not Be Spared If You Try To Make A Mistake

मुख्यमंत्री उद्यमी योजना की समीक्षा:उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन बोले - पारदर्शिता से होगा उद्यमी योजना के लाभार्थियों का चयन, गड़बड़ी करने की कोशिश की तो नहीं बख्शेंगे

पटना10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री उद्यमी योजना की समीक्षा बैठक करते उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री उद्यमी योजना की समीक्षा बैठक करते उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन।

उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के लाभार्थियों का चयन पूरी पारदर्शिता से होगा। ताकि इसमें किसी तरह की गड़बड़ी और भेदभाव की कोई गुंजाइश न बचे। चयन प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की जाएगी। उद्योग मंत्री ने गुरुवार को मुख्यमंत्री उद्यमी योजना की समीक्षा के बाद अधिकारियों को यह निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि इस योजनाओं के साथ बिहार के युवाओं की बड़ी उम्मीद जुड़ी हुई है।

इस साल 8000 लाभार्थियों के चयन के लक्ष्य के विरुद्ध कुल 62,324 आवेदन मिले हैं। किसी ने ठगी या गड़बड़ी करने की कोशिश तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। उद्योग मंत्री ने सभी जिला के उद्योग केंद्र के महाप्रबंधकों को पहले के लाभार्थियों को दिसंबर बकाया किस्त उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने कहा इसमें किसी बहाने से देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि पूर्व में चयनित लाभार्थियों को समय पर किस्त का भुगतान करना योजना की सफलता के लिए बेहद जरूरी है।

जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक खुद योजना में चयनित लाभार्थियों से मिलें और जल्द से जल्द प्रक्रिया पूरी कर पहली, दूसरी या तीसरी जो भी किस्त बकाया हो, उसका भुगतान दिसंबर माह तक पूरा कर विभाग को रिपोर्ट सौपें। उद्योग मंत्री ने क्षेत्रीय पदाधिकारियों से साफ शब्दों में कहा है कि जिला उद्योग केंद्र में आने वाले निवेशकों या उद्यमियों की हैंड होल्डिंग करें। जो उद्योग लगा चुके हैं उन्हें भी किसी वजह से परेशान न किया जाए।

बल्कि उनकी समस्याओं का निपटारा कर राज्य में छोटे बड़े उद्योगों की स्थापना में पूर्ण सहयोग करने की नीयत से काम करें। उन्होंने कहा कि ये उद्योग विभाग के लिए काफी महत्वपूर्ण समय है। राज्य में उद्योगों का माहौल बना है और ऐसे वक्त में विभाग के एक एक कर्मी को जिम्मेदारी और निष्ठा से काम करने की जरूरत है। मंत्री ने जिले में तैनात उद्योग विस्तार पदाधिकारियों को प्रखंड स्तर की जिम्मेदारी सौंपने और कार्यों में प्रगति की साप्ताहिक रिपोर्ट देने का निर्देश दिया।

खबरें और भी हैं...