पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चुनाव:इरशादुल्लाह लगातार चाैथी बार सुन्नी वक्फ बाेर्ड के निर्विराेध चेयरमैन बने

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कहा-सभी जिलाें में बनेगा वक्फ भवन और अल्पसंख्यक आवासीय स्कूल

माे. इरशादुल्लाह लगातार चाैथी बार बिहार स्टेट सुन्नी वक्फ बाेर्ड के चेयरमैन बने। साेमवार काे हज भवन में उन्हें बाेर्ड के सदस्याें ने निर्विराेध चेयरमैन चुन लिया। अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने इसकी घाेषणा की। बाढ़ के बाजिदपुर के रहने वाले इरशादुल्लाह 20 अक्टूबर 2008 से इस पद पर हैं।

वे अब 2025 तक चेयरमैन रहेंगे। मीडिया से बातचीत में उन्हाेंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हमें फिर यह जिम्मेदारी दी है, जिसपर खरा उतरने की पूरी काेशिश करूंगा। मुख्यमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि जितना काम पिछले 15 साल में अल्पसंख्यकाें खासकर मुस्लिमाें के लिए बिहार में हुआ है, उतना देश के किसी सीएम ने अपने राज्य में नहीं किया।

सीएम की वजह से ही हरेक जिले में जी प्लस फाेर वक्फ भवन बनेगा। पटना, दरभंगा, पूर्णिया समेत कई जिलाें में काम चल रहा है। हरेक वक्फ भवन पर 10-12 कराेड़ खर्च हाेंगे। पटना में अंजुमन इस्लामिया हाॅल का काम अगले साल मार्च तक पूरा हाे जाएगा। यह 42 कराेड़ की लागत से बन रहा है। हाईकाेर्ट मजार परिसर में भी एक भवन और बेली राेड की मजार गली में भवन बनेगा। हर जिले में एक अल्पसंख्यक आवासीय स्कूल बनाने का काम शुरू हाे गया है। हर स्कूल पर 55 से 57 कराेड़ रुपए खर्च हाेंगे।

अल्पसंख्यक छात्राें काे 10-10 हजार का वजीफा
उन्हाेंने कहा कि सबसे पहले बिहार में अल्पसंख्यक छात्राें काे 10-10 हजार का वजीफा दिया गया। तलाकशुदा मुस्लिम महिलाअाें काे 25 हजार की अार्थिक मदद दी जाती है। गरीब-यतीम बच्चियाें की शादी के लिए 25 हजार रुपए दिए जाते हैं। मुस्लिम बच्चाें के लिए तालीमी मरकज खाेले गए। हरेक स्कूल में एक-एक उर्दू टीचर की बहाली की जा रही है। सरकार के पास वक्फ की संपत्ति के संरक्षण, सुरक्षा अाैर इसके विकास के लिए पूरा राेडमैप है। माैके पर अब्दुल बाकी, मेजर इकबाल हैदर, दानिश रेजा समेत सैकड़ाें लाेग माैजूद रहे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें