जदयू का यू टर्न, रमेश चंद्र का टिकट वापस लिया:मालेगांव बम धमाके में आरोपी है रमेश चंद्र; यूपी में 20 सीटों के लिए पार्टी की लिस्ट जारी

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने 26 में 20 सीटों पर उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है। इनमें सबसे चौंकाने वाला नाम रमेश चंद्र उपाध्याय का था। इन्हें बलिया के बैरिया विधानसभा से टिकट दिया गया था। रमेश चंद्र उपाध्याय मालेगांव बम ब्लास्ट का मुख्य आरोपी है। खबर लगने के 10 मिनट बाद ही रमेश चंद्र का नाम उम्मीदवारों की लिस्ट से हटा दिया गया है।

5 साल पहले मुंबई हाईकोर्ट से मिली थी जमानत
2008 में हुए मालेगांव बम धमाके के आरोपी मेजर रमेश चंद्र उपाध्याय मुंबई हाई कोर्ट से जमानत पर रिहा है। 5 साल पहले उन्हें कोर्ट ने जमानत दी थी। रमेश चंद्र उपाध्याय 2020 में जदयू में शामिल हुए थे। उन्हें उत्तर प्रदेश के पूर्व सैनिकों की सेल का राज्य संयोजक भी बनाया गया था।

पहले जारी लिस्ट।
पहले जारी लिस्ट।

मालेगांव मामले में कथित भूमिका के लिए महाराष्ट्र ATS ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर और लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित के साथ रिटायर्ड मेजर रमेश उपाध्याय को गिरफ्तार किया था। उन्हें 2017 में जमानत पर रिहा किया गया था। इस मामले पर स्पेशल NIA कोर्ट में ट्रायल जारी है। अब नई लिस्ट में बैरिया विधानसभा को फिलहाल छोड़ दिया गया है। इसकी जगह पर औरैया से मीरा दीवाकर को टिकट दिया गया है।

खबर चलने के बाद बदली गई लिस्ट।
खबर चलने के बाद बदली गई लिस्ट।

इन सीटों के लिए JDU ने जारी की लिस्ट
पार्टी ने रोहनिया से सुनील कश्यप, गोसाईगंज से मनोज वर्मा, मड़िहान से डॉ. अरविंद पटेल, घोरावल से अनीता कॉल, बांगरमऊ से राबिया बेगम, प्रतापपुर से नीरज सिंह पटेल, करछना से अजीत प्रताप सिंह, औरैया से मीरा दीवाकर, भिंगा से राजेश कुमार शुक्ला, राबर्ट्सगंज से अतुल प्रसाद पटेल, सोहरतगढ़ से ओम प्रकाश गुप्ता, मड़ियाहूं से सुशील कुमार पटेल, चुनार से संजय सिंह पटेल, महरौनी से कैलाश नारायण, भाटपार रानी से राम आश्रय राजभर, भोगनीपुर से सतीश सचान, रानीगंज से संजय राज पटेल, जगदीशपुर से दिनेश कुमार, बिलासपुर से जगदीश शरण पटेल और लखनऊ कैंट से आशीष सक्सेना को टिकट दिया है।

जदयू ने संघ परिवार और आतंकवाद के प्रति अपनी गहरी निष्ठा जगजाहिर कर दी: कांग्रेस
इस मामले पर कांग्रेस प्रवक्ता आसित नाथ तिवारी ने कहा कि जदयू ने उत्तर प्रदेश में मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी रमेश चंद्र उपाध्याय को टिकट देकर संघ परिवार और आतंकवाद के प्रति अपनी गहरी निष्ठा जगजाहिर कर दी है। अब तक पर्दे के पीछे से संघ परिवार के लिए काम कर वाले जदयू ने अब खुल्लम-खुला अपनी सांप्रदायिक-दंगाई राजनीति को हवा देनी शुरू कर दी है। समाजवाद की खाल उतर गई है और हिटलरवाद सामने आ चुका है।

खबरें और भी हैं...