जूडा की हड़ताल:एनएमसीएच के जूनियर डाॅक्टर 19 घंटे हड़ताल पर रहे, रात 1 बजे काम पर लौटे

पटना सिटी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • कोरोना के बीच 5 दिन में दूसरी बार किया कार्य बहिष्कार

कोरोना संक्रमण के इस भीषण लहर के बीच एनएमसीएच के जूनियर डॉक्टर पांच दिन के अंदर दूसरी बार हड़ताल पर चले गए। वे बुधवार को सुबह चार बजे से देर रात एक बजे तक हड़ताल पर रहे। इससे करीब 19 घंटे तक मरीजों के इलाज की व्यवस्था प्रभावित रही। काफी समझाने-बुझाने के बाद जूनियर डॉक्टर काम पर लौटे।

गुरुवार को फिर अपनी मांगों कोे लेकर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव से मुलाकात करेंगे। दावा किया कि इससे बाद अगली रणनीति तय करेंगे। बुधवार को एक महिला कोरोना मरीज की मौत हाेने पर परिजनों ने तोड़फोड़ की। परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया था। इससे आक्रोशित जूनियर डाॅक्टरों ने कार्य बहिष्कार कर दिया था।

हाईकोर्ट ने कहा था- डॉक्टर को हड़ताल पर न जाने दें

बुधवार को दिन में कोरोना पर सुनवाई के दौरान जैसे ही सूचना मिली की एनएमसीएच के जूनियर डाॅक्टर हड़ताल पर चले गए हैं, हाईकोर्ट ने राज्य सरकार के वकीलों से कहा कि हाथ जोड़ें या पांव पकड़ें , लेकिन डॉक्टर को हड़ताल पर नहीं जाने दें।

खबरें और भी हैं...