पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना में एक ही तरह से फिर मर्डर:जैसे संतोष टेकरीवाल और गुंजन खेमका को मारी गोली, उसी तरह रुपेश को भी उतारा मौत के घाट

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रुपेश की हत्या के बाद जांच करती पुलिस। - Dainik Bhaskar
रुपेश की हत्या के बाद जांच करती पुलिस।
  • 12 जून 2009 की रात राजेंद्र नगर में कार के अंदर बैठे ट्रांसपोर्टर संतोष टेकरीवाल को मारी गई थी गोली
  • 20 दिसंबर 2018 को पटना के कारोबारी व BJP नेता गुंजन खेमका की हाजीपुर में हुई थी हत्या

इंडिगो के स्टेशन हेड रुपेश सिंह की हत्या ने बिहार में हुए दो पुरानी वारदातों की याद ताजा कर दी। इसमें एक मामला ट्रांसपोर्टर संतोष टेकरीवाल और दूसरा मामला कारोबारी व बीजेपी नेता गुंजन खेमका की हत्या का है। इन दोनों की तरह ही रुपेश सिंह की भी हत्या की गई। रुपेश को अपनी कार से बाहर निकलने का मौका भी नहीं मिला। दरअसल, 12 जून 2009 की रात 8:30 बजे के करीब कदमकुआं थाना के तहत राजेंद्र नगर के रोड नंबर 5 में एक स्कूल के पास अपराधियों ने कार में बैठे आजाद ट्रांसपोर्टर संतोष टेकरीवाल की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वारदात को दो अपराधियों ने अंजाम दिया था। गोली बाईं तरफ से सीने में मारी गई थी। इस वारदात को 11 साल से भी अधिक बीत गए हैं, लेकिन आज तक अपराधी नहीं पकड़े गए।

इसी तरह पटना के रहने वाले कारोबारी व बीजेपी के नेता गुंजन खेमका की हत्या की गई थी। 20 दिसंबर 2018 को गुंजन पटना से हाजीपुर इंडस्ट्रीयल एरिया स्थित अपनी फैक्ट्री गए थे। गेट पर ही जब कार खड़ी थी तो घात लगाए अपराधियों ने बाहर से गोलियों की बौछार कर दी थी। खिड़की का शीशा चकनाचुर हो गया था। यह वारदात दोपहर 12 बजे के करीब की थी। हत्या के इन दोनों वारदातों की तरह ही मंगलवार की रात पटना में इंडिगो के स्टेशन मैनेजर की घात लगाए अपराधियों ने उनके ही अपार्टमेंट के गेट पर की। वो भी तब जब वो कार से बाहर निकले भी नहीं थे। अपराधियों ने इस तरह गोली मारी की ड्राइविंग सीट की खिड़की का शीशा चकनाचुर हो गया था। सीट पर खून पसरे हुए थे। इन तीनों ही वारदातों में अपराधियों की हत्या करने का तरीका काफी मिलता जुलता है।

CISF के साथ मिलकर खंगाला गया CCTV फुटेज
रुपेश सिंह की हत्या ने पूरे बिहार को हिला कर रख दिया है। SIT को अलग-अलग हिस्सों में बांट कर उनकी जिम्मेवारी तय कर दी गई है। सचिवालय डीएसपी राजेश प्रभाकर की अगुवाई में शास्त्रीनगर थानेदार रामशंकर सिंह और एयरपोर्ट थानेदार अरूण कुमार व पटना पुलिस की स्पेशल सेल की टीम बुधवार को करीब 4 घंटे से अधिक देरी तक एयरपोर्ट पर रही। इस टीम ने CISF के साथ मिलकर एयरपोर्ट में लगे सभी CCTV कैमरा के फुटेज को खंगाला। मंगलवार के दिन रुपेश के हर मूवमेंट को चेक किया। साथ ही फुटेज के जरिए किसी संदिग्ध की तलाश की। घंटों की कड़ी मेहनत में पुलिस के हाथ क्या लगा? इस बारे में कुछ खुलासा नहीं किया गया है। वहीं, एक टीम बुधवार को वारदात स्थल और उसके आसपास के इलाकों को कई बार खंगालते हुए दिखी। पुनाइचक, बालदेव भवन और शंकर पथ के आसपास लगे CCTV को भी पूरी तरह से खंगाला गया है। पुनाइचक के एक कैमरे में शाम 7 बजे के करीब रुपेश की कार घर की तरफ जाते हुए भी दिखी है।

नहीं पता चला कि कौन-सी है बाइक
पुलिस के हाथ अब तक कोई ठोस सबूत नहीं लगा है। जांच की दिशा क्या है? इसे पूरी तरह से गुप्त रखा जा रहा है। खेल टेंडर का है या कुछ और? इस बारे में पुलिस अधिकारी अभी कुछ भी नहीं बता रहे हैं। पुलिस के हाथ वारदात स्थल के आसपास के कुछ CCTV फुटेज जरूर लगे हैं। जिसमें बाइक सवार अपराधी दिखे भी हैं। पुलिस अधिकारी के अनुसार अंधेरा होने की वजह से यह पता नहीं चल पा रहा है कि बाइक कौन सी थी? उसका नंबर क्या था?

ब्लाइंड केस है, टाइम लगेगा पर खुलासा करेंगे
रुपेश के हत्यारों की तलाश में पटना से लेकर सारण और गोपालगंज जिले तक पुलिस, STF और CID की टीम काम कर रही है। पिछले 24 घंटे में ताबड़तोड़ छापेमारी की गई है। कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी चल रही है। वारदात के पीछे की वजह और हत्यारे कौन हैं? इस बारे में अब तक कुछ साफ नहीं हो सका है। पुलिस के लिए यह केस पूरी तरह से ब्लाइंड है। पटना के रेंज आईजी संजय सिंह के अनुसार पुलिस ने अपनी पूरी ताकत अपराधियों को पकड़ने में लगा दी है। उनका दावा है कि थोड़ा टाइम लगेगा पर खुलासा जल्द होगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

और पढ़ें