पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन मुहैया करा रहे खुर्शीद:एडवांटेज ग्रुप के CEO ने की बिहार में 300 बेड के अस्पताल खोलने की घोषणा, मुफ्त में देंगे एंबुलेंस सेवा

पटना11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खुर्शीद अहमद ने एक पखवारे में पटना और दरभंगा के अस्पतालों को समय पर ऑक्सीजन मुहैया कराकर करीब 3 दर्जन मरीजों की जान बचाई है।  - Dainik Bhaskar
खुर्शीद अहमद ने एक पखवारे में पटना और दरभंगा के अस्पतालों को समय पर ऑक्सीजन मुहैया कराकर करीब 3 दर्जन मरीजों की जान बचाई है। 

एडवांटेज ग्रुप के CEO खुर्शीद अहमद कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन मुहैया कराने के बाद अभियान में जुटे हैं। अब उन्होंने अपने एक दोस्त के साथ मिलाकर राज्य में एक 300 बेड का अस्पताल शुरू करने की घोषणा की है। साथ ही पटना में जल्द से जल्द मरीजों को मुफ्त में एंबुलेंस सेवा देने बात कही है। एक पखवारे में पटना और दरभंगा के अस्पतालों को समय पर ऑक्सीजन मुहैया कराकर करीब 3 दर्जन मरीजों की जान बचाई है।

खुर्शीद अहमद ने बताया कि पटना ही नहीं दिल्ली, मुंबई, भोपाल, कोलकाता, गुवाहाटी आदि से भी लोग ऑक्सीजन के लिए फोन करते हैं। एडवांटेज ग्रुप का CSR विंग्टेक वांटेज सपोर्ट पटना में मुक्त एंबुलेंस सेवा शुरू करेगा। उन्होंने बताया कि 1 दिन मध्यरात्रि को एशियन हॉस्पिटल पाटलिपुत्र कॉलोनी के GM राजीव रंजन का फोन आया कि सुबह 7:00 बजे तक ही ऑक्सीजन बचा है, मरीजों की जान बचा लीजिए। तब रातों-रात स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत और पटना DDC ऋचि पांडे की मदद से मुजफ्फरपुर से ऑक्सीजन सिलेंडर मंगवाया। ऑक्सीजन समाप्त होने के 5 मिनट पहले नया सिलेंडर आया और 7 मरीजों की जान बच गई।

इसी तरह दरभंगा के पास में भर्ती 26 लोगों की जान बचाई गई। खुर्शीद अहमद ने बताया कि आयकर विभाग के एक अधिकारी की बुजुर्ग मां की हालत नाजुक हो रही थी। उन्हें पेसमेकर की आवश्यकता थी। तब पारस हॉस्पिटल कंसल्टेड कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर निशांत त्रिपाठी से बात की और अगले दिन सुबह में पेसमेकर लगाया। तब जाकर उनकी स्थिति में सुधार हुई। खुर्शीद ने लोगों से कोविड प्रोटोकॉल के पालन करने की अपील की।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

और पढ़ें