जिले में 3 क्लस्टर:सिटी में एलईडी बल्ब, गुलजारबाग में स्टील फर्नीचर और फतुहा में लगेगी लेदर इंडस्ट्रीज

पटना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
30 करोड़ रुपए किए जाएंगे खर्च, डीपीआर बनाने के लिए मिली मंजूरी - Dainik Bhaskar
30 करोड़ रुपए किए जाएंगे खर्च, डीपीआर बनाने के लिए मिली मंजूरी

जिले में मुख्यमंत्री सूक्ष्म एवं लघु उद्योग क्लस्टर योजना के तहत तीन क्लस्टर का चयन किया गया है। डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में मंगलवार को हिंदी भवन में आयोजित बैठक के दौरान 30 करोड़ की राशि से बनने वाले तीनों कलस्टर के डीपीआर की स्वीकृति दी गयी है। इसमें एलईडी बल्ब क्लस्टर पटना सिटी, स्टील फर्नीचर क्लस्टर गुलजारबाग,लेदर इंडस्ट्रियल क्लस्टर फतुहा शामिल है। डीएम ने कहा कि चयनित किए जाने वाले प्रत्येक कलस्टर की अनुमानित लागत करीब 10 करोड़ है। इस क्लस्टर से गुणवत्तापूर्ण उत्पाद राज्य के लोगों को प्राप्त होगा।

उन्होंने कहा कि इसमें विश्वस्तरीय मशीन, उच्च कोटि की गुणवत्ता वाली कच्चा माल और काम करने वाले कुशल श्रमिकों को कुशल प्रशिक्षण की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। ताकि, सभी क्लस्टर बड़े बड़े औद्योगिक इकाइयों से प्रतिस्पर्धा में आ सके। इससे सैकड़ों लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके साथ ही लोगों को कम लागत पर अच्छी सामग्री प्राप्त होगी। लोगों को उत्पाद के संबंध में जानकारी देने के लिए सामान्य सुविधा केंद्र की स्थापना की जाएगी। इस मौके पर डीआरडीए डायरेक्टर अरविंद कुमार, जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक अमरनाथ दुबे, सहायक जिला योजना पदाधिकारी सहित कई अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

नल जल की शिकायतों का होगा निष्पादन

जिले के ग्रामीण इलाकों में हर घर नल का जल, ग्रामीण नली-गली पक्कीकरण योजना, हर घर बिजली, शौचालय आदि के संबंध में शिकायतें प्राप्त की जाएगी। इन शिकायतों का ऑन स्पॉट समाधान किया जाएगा।

जन प्रतिनिधियों के माध्यम से कार्यक्रम की जानकारी
पंचायत में आयोजित होने वाले कार्यक्रम की जानकारी जनप्रतिनिधियों के माध्यम से आम लोगों को मिलेगी। इसके साथ सरकारी के कर्मी विकास मित्र, आंगनबाड़ी सहायिका-सेविका घर-घर तक लोगों को जानकारी उपलब्ध कराएगी, ताकि अधिक से अधिक संख्या में लोगों को लाभ मिल सके।

जिले की 309 पंचायत में चलेगा ‘प्रशासन आपके द्वार’ कार्यक्रम

जिले के ग्रामीण इलाके में रहने वाले आम लोगों को सभी सरकारी योजनाओं का शत प्रतिशत लाभ मिलेगा। इसके लिए पटना जिला प्रशासन ने प्रशासन आपके द्वार कार्यक्रम चलाने का निर्णय लिया है। प्रशासनिक स्तर पर कार्यक्रम की रूपरेखा तय की जा रही है। इसके तहत सभी 309 पंचायत में क्रमवार कार्यक्रम आयोजित होगा। अनुमंडल पदाधिकारी के नेतृत्व में प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी सहित प्रखंड स्तरीय सभी टीम पंचायत में जाएगी। इसका उद्देश्य ग्रामीण इलाकों में रहने वाले ऐसे लोग जो प्रखंड और जिला मुख्यालय तक नहीं पहुंच पाते हैं।

ऐसे लोगों के घरों तक प्रशासन की टीम पहुंचकर सरकारी योजनाओं के संबंध में जानकारी देने के साथ ऑन स्पॉट सामाधान करने की कोशिश करेगी। ऐसे मामले जिसका ऑन स्पॉट समाधान नहीं होगा। इन मामलों की सूची तैयार कर संबंधित पदाधिकारी को निश्चित समय सीमा के अंदर पूरा करने का टास्क दिया जाएगा। समस्या का समाधान करने के बाद शिकायत करने वाले लोगों को फोन सहित अन्य माध्यमों से जानकारी उपलब्ध करायी जाएगी।

खबरें और भी हैं...