• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Press Written Creta Car In Patna, Home Made Chamber In Samastipur And Liquor Consignment Caught Inside The Truck In Supaul

देखिए, सुशासन राज में कैसे बेची जा रही शराब:समस्तीपुर में घर के अंदर बने गुप्त चेंबर से निकली शराब की बड़ी खेप, पटना में PRESS लिखी गाड़ी से कर रहा था शराब तस्करी

पटना6 महीने पहले
समस्तीपुर में चेंबर में मिली शराब की बड़ी खेप।

कोरोना वायरस की दूसरी लहर का संक्रमण कम होते ही बिहार में शराब माफिया तेजी से एक्टिव हो गए हैं। राजधानी पटना हो या फिर राज्य का कोई दूसरा जिला, वहां अवैध तरीके से लाई गई शराब की खेप की संख्या काफी बढ़ गई है। पड़ोसी राज्यों उत्तर प्रदेश, झारखंड और पश्चिम बंगाल से लगातार शराब की खेप को अलग-अलग तरीकों से बिहार लाया जा रहा है।

बिहार पुलिस के मद्य निषेद्य की टीम ने जो कार्रवाई पिछले 24 घंटे के अंदर की है, उससे ही शराब तस्करी के बढ़ते मामलों की पुष्टि हो रही है। पटना, समस्तीपुर और सुपौल में मद्य निषेद्य के अलग-अलग स्पेशल ऑपरेशन ग्रपु (SOG) ने इन कार्रवाई को अंजाम दिया है।

पकड़ाए गए पांचों शराब तस्कर और PRESS लिखी कार।
पकड़ाए गए पांचों शराब तस्कर और PRESS लिखी कार।

पटना पहुंचते ही पकड़ी गई UP से आई खेप

दानापुर के कोठिया बाजार का प्रिंस गुप्ता अपने साथियों के साथ मिलकर काफी समय से दूसरे राज्य से शराब लाकर पटना में रूपसपुर, शगुना मोड़ सहित आसपास के इलाके में होम डिलीवरी करता रहा है। पुलिस से बचने के लिए इसने उसकी क्रेटा कार पर प्रेस लिखवा रखा था।

मिली सूचना के आधार पर शनिवार सुबह 9 बजे के करीब SOG-11 की अगुवाई करते हुए DSP सिंधु शेखर सिंह की टीम ने JP सेतु की ओर से आ रही दो क्रेटा कारों को रोका। उसकी तलाश ली। पहले तो प्रेस के नाम पर प्रिंस ने धौंस दिखाने की कोशिश की, मगर, DSP के कड़े रुख को देख वह डर गया। फिर गाड़ी की तलाश ली गई और दोनों ही गाड़ियों के अंदर से भारी मात्रा में विदेशी शराब पकड़ी गई। मद्य निषेद्य के SP संजय कुमार सिंह के अनुसार शराब की इस खेप को उत्तर प्रदेश के पढ़ड़ौना से लाया जा रहा था। इस मामले में कुल 5 तस्करों को पकड़ा गया है। इनके खिलाफ दीघा थाना में FIR दर्ज की गई है। वहीं पर पूछताछ भी की गई है।

घर में बने चेंबर के अंदर मिली शराब की खेप

SOG-1 ने शुक्रवार की देर रात को समस्तीपुर जिले के मोहनपुर आउटपोस्ट के तहत एक घर में छापेमारी की। घर से ही शराब के अवैध कोरोबार को ऑपरेट किए जाने की पक्की सूचना थी। इसी आधार पर कार्रवाई हुई। टीम ने घर के एक-एक कोने को खंगाला। जांच के दौरान एक जगह पर बहुत सारी मिट्‌टी जमा थी, जिसे टॉर्च की लाइट में हटाया गया। तब जाकर वहां पर एक चेंबर मिला। टीम में शामिल जवानों ने चेंबर के ढक्कन को जब हटाया तो उसके अंदर शराब से भरी बोतलों के बहुत सारे कार्टन रखे हुए थे। इस कार्रवाई में 1581.45 लीटर शराब जब्त की गई है। एक पिकअप वैन, दो बाइक, एक स्कूटी और तीन मोबाइल को भी जब्त किया गया है।

ट्रक से लाई गई थी बड़ी खेप

SOG-4 ने सुपौल में एक बड़ी खेप को पकड़ा। यह कार्रवाई शुक्रवार देर रात की है। पड़ोसी राज्य से ट्रक में भरकर शराब की खेप को लाया गया था। उसे माफिया के ठिकाने पर पहुंचना था। लेकिन, उसके पहले की कार्रवाई हो गई। हालांकि, इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई। टीम के पहुंचते ही ट्रक का ड्राइवर और खलासी फरार हो गया था। अब ट्रक नंबर के जरिए मद्य निषेद्य की टीम माफिया तक पहुंचने में जुटी है।

खबरें और भी हैं...