पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस की जांच जारी:फर्जी एक्सचेंज चलाने के लिए सिंगापुर से मंगाई थी मशीन और सर्वर

पटना9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अनीसाबाद स्थित फर्जी एक्सचेंज मामले में गिरफ्तार दो शातिर। - Dainik Bhaskar
अनीसाबाद स्थित फर्जी एक्सचेंज मामले में गिरफ्तार दो शातिर।
  • आरोपी दोनों भाइयों को भेजा गया जेल, रिमांड पर लेगी पुलिस, सउदी अरब, कुवैत और कतर से आते थे फोन, गोपालगंज, सीवान और दरभंगा से कराई गई सबसे अधिक बात

अनीसाबाद में फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज मामले में पुलिस की जांच जारी है। मामले में गोपालगंज के दोनों भाइयों अनिल और सुशील चौरसिया और अन्य अज्ञात पर इंडियन टेलीग्राफ एक्ट, आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471 और 120 बी के तहत मामला दर्ज किया गया है। पूछताछ के बाद अनिल और सुशील को बुधवार को जेल भेज दिया गया। साक्ष्यों को एकत्र कर पुलिस दोनों भाइयों को रिमांड पर लेगी। इधर पुलिस बरामद 64 सिम के बारे में भी जानकारी जुटा रही है। जिन-जिन लोगों के नाम पर सिम जारी हुआ है, जिस एजेंसी ने बेचा है उनसे भी पुलिस पूछताछ करेगी। वहीं कॉल सेंटर से हिरासत में ली गई चार लड़कियों और अन्य स्टाफ को पूछताछ के बाद पुलिस ने बांड भारवा कर छोड़ दिया है।

फर्जी एक्सचेंज से पुलिस ने कई राउटर, सर्वर, लैपटॉप सहित कुछ और मशीनें बरामद की हैं। दोनों भाइयों ने फर्जी एक्सचेंज चलाने के लिए विदेश से सर्वर मंगाया था। ईज्वाइनटेक नाम के जिस मशीन से कॉल को कनवर्ट किया जाता था वह सिंगापुर का है। पुलिस को आशंका है कि दोनों भाई जिसके लिए काम करता है उसी ने इसे विदेशी कंपनी का सर्वर दिया है। मशीनों की जांच के लिए टेक्निकल एक्सपर्ट की मदद ली जा रही है। इसके अलावा कई पासबुक, डेबिड कार्ड और अन्य सामान भी बरामद हुई है, जिसकी जांच चल रही है।

कई डॉक्यूमेंट, पासबुक, डेबिट कार्ड मिले, हिरासत में ली गई चार लड़कियों और अन्य स्टाफ को पूछताछ के बाद छोड़ा

दोनों भाइयों से पूछताछ और जांच में जो बातें सामने आई हैं उसके अनुसार उक्त फर्जी एक्सचेंज में खाड़ी देशों में से सबसे अधिक फोन सउदी अरब, कुवैत और कतर से आते थे। इसके अलावा कुछ अन्य देश भी हैं जहां से फोन आता था। इसके बाद इस एक्सचेंज से इंटरनेशनल कॉल को लोकल कॉल में कनवर्ट कर पटना के साथ-साथ सबसे अधिक गोपालगंज, सीवान और दरभंगा भेजा जाता था।

दोनों भाइयों का खाड़ी देशों में संपर्क है। साथ ही इस एक्सचेंज के साथ-साथ कई मेन सर्वर भी है, जो दूसरे शहर में एक्टिव है। हालांकि दोनों भाइयों ने इस बाबत पुलिस को कुछ नहीं बताया है। लेकिन जांच कर रही टीम की मानें तो दोनों भाई किसी के लिए काम करता है, जिसका मेन सर्वर किसी दूसरे शहर में है। गर्दनीबाग थानेदार अरुण कुमार ने कहा कि पूरे मामले की जांच चल रही है। सभी साक्ष्यों को एकत्र किया जा रहा है। पूछताछ के बाद दोनों भाई को जेल भेज दिया गया है।

आगे मोबिल की दुकान और पीछे चलता था कॉल सेंटर
सूर्य मंदिर के पास दोनों भाइयों ने एसबीआई एटीएम के ठीक ऊपर पहले तल्ले पर कॉल सेंटर खोला था। यह कॉल सेंटर मोबाइल दुकान की आड़ में चलता था। एडेन ऑयल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड नाम से दोनों भाई ने अपना दफ्तर खोल लिया था। पहले कमरे के बाद पूरे फ्लोर पर कॉल सेंटर बना हुआ था। जहां से इंटरनेशनल कॉल को लोकल में कंवर्ट किया जाता था।

खबरें और भी हैं...