पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Medical engineering Coaching Students Turned Out To Be Robbers Of Jewelery Shop, After Robbing On September 2, Coaching Reached Teachers' Day On 5th, So That There Is No Doubt

कोचिंग करने वाले छात्र निकले ज्वेलरी दुकान के लुटेरे:मेडिकल-इंजीनियरिंग की कोचिंग करने वाले छात्र निकले ज्वेलरी दुकान के लुटेरे, 2 सितंबर को लूट के बाद 5 को शिक्षक दिवस में पहुंचा कोचिंग, ताकि शक न हो

पटना3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
करण, शुभम और आदित्य (बाएं से दाएं)। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
करण, शुभम और आदित्य (बाएं से दाएं)। फाइल फोटो
  • यू-ट्यूब पर फिल्में देखकर पहली बार बनाई लूट की प्लानिंग

इंजीनियरिंग, मेडिकल और फार्मा की तैयारी कर रहे चार लड़कों ने अटल पथ से सटे शिवपुरी स्थित महावीर ज्वेलर्स में 2 सितंबर को हथियार के बल पर तीन लाख के गहने और 28 हजार नकदी लूट की वारदात को अंजाम दिया था। इनमें से तीन की दोस्ती एक कोचिंग में हुई थी और चौथा शातिर इनमें से एक लड़के के पैतृक घर का किराएदार है।

लूट के लिए हथियार नवगछिया से यही चौथा शातिर ट्रेन से लेकर आया था। 2 सितंबर को लूट के बाद किसी को शक नहीं हो, इसलिए तीनों दोस्त शिक्षक दिवस समारोह के लिए बोरिंग रोड स्थित कोचिंग भी गए। यहां से लौटने के कुछ देर बाद फिर वापस आ गए और एक ने ताजा एक्सीडेंट और मरहमपट्‌टी दिखा कोचिंग संचालक से अपने पिता को कॉल भी करवाया।

लेकिन, यह चालाकी सीसीटीवी फुटेज मिलने के कारण बेकार गई। महावीर ज्वेलर्स का सीसीटीवी कैमरा खराब था, लेकिन अपराधियों के घटनास्थल पर आने और वहां से लौटने के रास्ते पर कई जगह की फुटेज ने पुलिस को 2 किलोमीटर दूर पुनाईचक संप हाउस के पास स्थित लाल लॉज के कमरे तक पहुंचा दिया।

36 घंटे तक पुलिस यहां टिकी, तब लॉज के उस कमरे को खोलने पहुंचे दो दोस्तों को पकड़ा और इनकी निशानदेही पर तीसरा स्थानीय अपराधी भी पकड़ा गया। पुलिस ने लॉज के कमरे में बिछावन के नीचे से गहने बरामद किए।

पकड़ाने के डर से गहने नहीं बेच सके
गिरफ्तार शुभम कुमार, करण कुमार और आदित्य हर्षवर्द्धन से पुलिस ने लूटे गए 3 लाख के गहने के अलावा लूट में उपयोग किए एक पिस्टल, पल्सर बाइक, तीनों के कपड़े, हैंड ग्लव्स, हेलमेट, दो मैग्जीन के अलावा 15 कारतूस बरामद किए हैं। एक पिस्टल को शुभम ने घटना के बाद बेच दिया।

लूटे 28 हजार रुपए चारों ने मिलकर उड़ा दिए। लूट की घटना को अंजाम देने के लिए चारों ने यू-ट्यूब पर कई फिल्में देखीं। शुभम, करण और आदित्य अटल पथ से होकर शिवपुरी की इस ज्वेलरी शॉप के आसपास तीनों ने बारी-बारी से रेकी की। नौगछिया से आशीष 50 हजार में सौदा कर दो पिस्टल, मैग्जीन और कारतूस लेकर ट्रेन से पटना आया।

हथियार बेचने वाले को 10 हजार ही दिया था, बाकी 40 हजार कुछ दिन बाद देने की बात थी। लूट के लिए आदित्य की बाइक थी। शुभम ने अपने एक दोस्त से बाइक मांग ली। क्राइम वीडियोज़ को देखते हुए इन्होंने मास्क-ग्लव्स खरीदे।

खबरें और भी हैं...