अंडरग्राउंड मेट्रो निर्माण के लिए चीन से आ रही मशीन:मेट्रो : गांधी मैदान के पास घुसेगी और सुरंग खोदते पीयू में निकलेगी मशीन

पटना2 महीने पहलेलेखक: ब्रजकिशोर दूबे
  • कॉपी लिंक

अंडरग्राउंड मेट्रो की सुरंग बनाने के लिए चीन से टनल बोरिंग मशीन (टीबीएम) आ रही है। इस मशीन की लोडिंग पानी के जहाज पर की गई है। अगले महीने तक पश्चिम बंगाल के हल्दिया बंदरगाह पहुंचने की उम्मीद है। यहां से रोड मार्ग से मशीन का पार्ट अक्टूबर के अंत तक पटना पहुंचेगा। दिसंबर से सुरंग का निर्माण कार्य शुरू होगा। यह मशीन 20 फीट चौड़ाई में गोलाकर टनल बनाने का कार्य करेगी। मेट्रो के अधिकारियों के मुताबिक चार मशीनें आ रही हैं। पहले चरण में मोइनुल हक स्टेडियम से टीबीएम डाली जाएगी। यह पटना विवि में निकलेगी।

वहीं, गांधी मैदान से डाली जाने वाली टीबीएम भी पटना विवि पहुंचेगी। दूसरे चरण में गांधी मैदान से डाली जाने वाली टीबीएम फ्रेजर रोड स्थित रेडियो स्टेशन के पास निकाली जाएगी। वहीं, मोइनुल हक स्टेडियम में डाली जाने वाली टीबीएम मलाही पकड़ी में निकलेगी। यह काम 42 महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। पिछले महीने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अंडरग्राउंड मेट्रो का मोइनुलहक स्टेडियम में शिलान्यास किया था।

रेडियो स्टेशन से पटना जंक्शन के बीच अलग से होगा टेंडर
रेडियो स्टेशन से पटना जंक्शन के बीच काम के लिए अलग से टेंडर होगा। इसकी प्रक्रिया चल रहा है। पटना जंक्शन से राजेंद्र नगर के बीच 8.08 किमी टनल का निर्माण होना है। इसके लिए ट्रैफिक का डायवर्सन किया गया है। वर्तमान समय में अंडरग्राउंड स्टेशन का निर्माण कार्य चल रहा है।

जंक्शन से राजेंद्रनगर के बीच 6 अंडरग्राउंड स्टेशन
पटना जंक्शन से राजेंद्र नगर के बीच 8.08 किमी लंबे अंडरग्राउंड मेट्रो में छह स्टेशन बनेगा। इसमें आकाशवाणी, गांधी मैदान, पीएमसीएच, पटना विश्वविद्यालय, मोईनुलहक स्टेशन और राजेन्द्र नगर स्टेशन शामिल है। इसका निर्माण कार्य शुरू हुआ है। वहीं, राजेंद्र नगर से आईएसबीटी के बीच पांच एलिवेटेड स्टेशन बनाने का कार्य चल रहा है। इसमें मलाही पकड़ी, खेमनीचक, भूतनाथ, जीरो माइल और आईएसबीटी शामिल है।

17.93 किमी लंबा होगा कॉरिडोर वन
कॉरिडोर वन में कुल स्टेशन 14 है। दानापुर से खेमनीचक के बीच 17.93 किमी लंबा मेट्रों का निर्माण हो रहा है। इसमें दानापुर से पाटलिपुत्र और पटना जंक्शन से खेमनीचक के बीच 7.42 किमी एलिवेटेड होगा। वहीं, रूकनपुर से लेकर पटना जंक्शन के बीच 10.51 किमी अंडरग्राउंड बनेगा।

दो जगहों पर इंटरचेंज स्टेशन
दानापुर से आईएसबीटी के बीच 32.50 किमी लंबा मेट्रो का निर्माण कार्य जारी है। इसमें कॉरिडोर वन और कॉरिडोर टू से सफर करने वाले यात्रियों के दूसरे रूट में जाने के लिए दो जगह पर इंटरचेंज स्टेशन बनेगा। पटना जंक्शन पर अंडरग्राउंड इंटरचेंज स्टेशन और खेमनीचक एलिवेटेड इंटरचेंज स्टेशन होगा।

14.57 किमी लंबा होगा कॉरिडोर टू

कॉरिडोर टू में कुल स्टेशन 12 हैं। पटना जंक्शन से आईएसबीटी के बीच 14.57 किमी लंबा मेट्रो का निर्माण रहा है। इसमें पटना जंक्शन से राजेंद्र नगर के बीच 8.08 किमी अंडरग्राउंड और राजेंद्र नगर से आईएसबीटी के बीच 6.49 किमी एलिटवेटेड होगा।