निर्देश / पटना में होम क्वारेंटाइन में रहने वाले प्रवासी मजदूरों को भी ट्रेन का किराया और 500 रुपए मिलेंगे

प्रवासियों को प्रखंड क्वारेंटाइन सेंटर की जगह होम क्वारेंटाइन में रखने का निर्णय लिया गया है। प्रवासियों को प्रखंड क्वारेंटाइन सेंटर की जगह होम क्वारेंटाइन में रखने का निर्णय लिया गया है।
X
प्रवासियों को प्रखंड क्वारेंटाइन सेंटर की जगह होम क्वारेंटाइन में रखने का निर्णय लिया गया है।प्रवासियों को प्रखंड क्वारेंटाइन सेंटर की जगह होम क्वारेंटाइन में रखने का निर्णय लिया गया है।

  • आपदा प्रबंधन ने जिलों को भेजा निर्देश, मजदूरों का रजिस्ट्रेशन जरूरी
  • आज पटना आएंगे राजस्थान से छुड़ाए 114 बाल श्रमिक

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 07:02 AM IST

पटना. प्रखंड मुख्यालय के क्वारेंटाइन सेंटरों में नहीं रहने वालों को ‘प्रवासी मजदूर निष्क्रमण सहायता’ राशि मिलेगी। इसके तहत रेलवे के किराया के साथ 500 रुपए दिए जाएंगे। हालांकि, किसी भी सूरत में उन्हें 1000 रुपए से कम राशि नहीं मिलेगी।

मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, सूरत, अहमदाबाद, पुणे, गाजियाबाद, फरीदाबाद, गुरुग्राम, नोएडा और बेंगलुरू के अलावा अन्य शहरों से आने वाले प्रवासियों को प्रखंड क्वारेंटाइन सेंटर की जगह होम क्वारेंटाइन में रखने का निर्णय लिया गया है। आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने सभी डीएम और एसपी को लिखे पत्र में कहा है कि इसके लिए सभी मजदूरों का पंजीकरण जरूरी है।
आज आएंगे राजस्थान से छुड़ाए 114 बाल श्रमिक
राजस्थान के विभिन्न जिलों में बाल श्रमिक के रूप में काम कर बिहार के 114 बच्चे रविवार को पटना लौटेंगे। इन सभी को राजस्थान से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से लाया जा रहा है। राजस्थान सरकार के पदाधिकारियों की देखरेख में पटना पहुंचने पर इन बच्चों को अपना घर में रखा जाएगा जहां उनके स्वास्थ्य की जांच होगी और बयान रिकाॅर्ड किया जाएगा। बाद में डीएम के माध्यम से उनके घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था की जाएगी। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना