भारतमाला-2 परियोजना:पथ निर्माण मंत्री नितिन ने कहा- बिहार में विकास की गति तेज करने के लिए 4 नए राजमार्गों को हाईवे बनाने की मंजूरी

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम की सहमति के बाद 4 सड़कों का प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया। - Dainik Bhaskar
सीएम की सहमति के बाद 4 सड़कों का प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया।

राज्य में गाड़ियों की रफ्तार बढ़ाने और विकास की गति तेज करने के लिए चार नए राजमार्गों को हाईवे बनाने का निर्णय किया गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इन प्रस्तावित सभी चारों राजमार्गों के एलाइनमेंट की मंजूरी देकर उसे निर्माण के लिए भारतमाला-2 परियोजना में शामिल करने के लिए केंद्र को प्रस्ताव भेजने की सहमति दे दी है।

पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय को इस संबंध में पत्र भेज दिया गया है। राज्य में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने और लोगों के आवागमन को आसान बनाने के लिए प्रदेश में 4 नए पथों को भारतमाला-2 परियोजना में शामिल करने का अनुरोध किया गया है।

बक्सर-भागलपुर एक्सप्रेस-वे के बन जाने से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से सफर करते हुए लोग दिल्ली से बिहार की पूर्वी सीमा भागलपुर तक पहुंच जाएंगे। भागलपुर का रेशम उद्योग दिल्ली से जुड़ जाएगा। उत्तर प्रदेश (बलिया) के पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से बिहार होते उत्तर प्रदेश के ही कुशीनगर तक 4 लेन राजमार्ग विकसित करने के लिए मांझी-बरौली- बेतिया- बगहा-कुशीनगर हाइवे का निर्माण हो जाएगा तो बौद्ध सर्किट के ऐतिहासिक स्थल सारनाथ, लौरिया और कुशीनगर तेज गति वाले मार्ग से जुड़ेंगे और वाल्मीकिनगर टाइगर प्रोजेक्ट जाना आसान हो जाएगा।

मंत्री ने बताया कि कहलगांव-कुरसेला-फारबिसगंज राजमार्ग के बनने से पूर्वी बिहार की संपर्कता झारखंड के संथाल परगना क्षेत्र से तो बढ़ेगी ही, झारखंड और बिहार से नेपाल तक तेज गति वाला एक नया राजमार्ग बन जाने से व्यापार को गति मिलेगी। कहलगांव के समीप एक 4 लेन का गंगा नदी पर एक नया पुल भी मिलेगा। वहीं नवादा-बरौनी-झंझारपुर-लदनिया राजमार्ग के 4 लेन हो जाने से राज्य के औद्योगिक विकास में सहायता मिलेगी। बिहार के दक्षिणी भाग से नेपाल के सीमावर्ती इलाकों की दूरी कम होगी। कोशी और कमला बालन के क्षेत्र में सड़क संपर्कता बढ़ेगी।

ये हैं वे 4 राजमार्ग
1. बक्सर-भागलपुर एक्सप्रेस-वे, लंबाई- 350 किलोमीटर
2. नवादा-बरौनी-झंझारपुर-लदनिया हाईवे, लंबाई- 220 किलोमीटर
3. मांझी-बरौली-बेतिया-बगहा-कुशीनगर हाईवे, लंबाई- 215 किमी.
4. कहलगांव-कुरसेला-फारबिसगंज हाइवे, लंबाई- 120 किमी।

खबरें और भी हैं...