मगध विश्वविद्यालय के छात्रों का प्रदर्शन:ईको पार्क से राजभवन तक पैदल मार्च किया, सत्र नियमित करने की कर रहे थे मांग

पटना2 महीने पहले

मगध विश्वविद्यालय में विलंब से चल रहे सत्रों को नियमित कराने के लिए छात्रों ने ईको पार्क से राजभवन तक पैदल मार्च किया। इस दौरान प्रशासन द्वारा उन्हें बीच में ही लाठीचार्ज कर भगाया जाने लगा। वहीं, पुलिस तीन छात्रों को गिरफ्तार कर सचिवालय थाना लेकर गई है। इसके बाद छात्रों के प्रतिनिधि मंडल को राज्यपाल के प्रधान सचिवश्री रॉबर्ट एल. चोंग्थू से मिलवाने के लिए ले जाया गया है। फिर भी छात्र अपनी मांग पर डटे रहे, छात्रों का कहना हैं कि हमारी डिग्री सही समय पर पूरी की जाए।

पिछले कई वर्षो से मगध विश्वविद्यालय में स्नातक एवं स्नातकोत्तर के सत्र दो से तीन साल विलंब से चल रहे हैं जिसके कारण तीन लाख से अधिक छात्रों का भविष्य बर्बाद हो रहा है, सैकड़ों की संख्या में छात्र हैं जो प्रतियोगी परीक्षाओं को पास कर चुके हैं लेकिन डिग्री नहीं होने की वजह से नौकरी जॉइन नहीं कर पा रहें है, वहीं सैकड़ों की संख्या में ऐसे भी छात्र हैं जो उच्चतर शिक्षा लेना चाहते हैं लेकिन प्रवेश परीक्षा पास करने के बावज़ूद नामांकन नहीं ले पा रहे हैं।

छात्रों की मांग कुछ इस प्रकार है

1) स्नातक सत्र 2017-20 के परीक्षा में उपस्थित छात्रों के पेंडिंग रिज़ल्ट का प्रकाशन

2) स्नातक सत्र 2018-21 के पार्ट-2 परीक्षा में पेंडिंग रिज़ल्ट का प्रकाशन एवं पार्ट- 3 की परीक्षा करा शीघ्र रिज़ल्ट प्रकाशन

3) स्नातक सत्र 2019-22 के पार्ट-1 का रिज़ल्ट प्रकाशन एवं पार्ट-2 व पार्ट-3 की परीक्षा और रिज़ल्ट प्रकाशन

4) स्नातक सत्र 2020-23 एंव 2021-24 तय समय पर पूरे किए जाए

5) स्नातकोत्तर सत्र 2018-2020, 2019-21 व 2020-22 के सभी लंबित परीक्षाओं के रिजल्ट प्रकाशित किए जाए

6) B.Ed पार्ट-1 का लंबित रिजल्ट प्रकाशन एवं पार्ट-2 की परीक्षा व रिज़ल्ट प्रकाशन