जहरीली गैस की वजह से दो मजूदरों की मौत:पटना में सीवरेज का चैंबर बनाने के लिए उतरे थे प. बंगाल के 2 मजूदर, दम घुटने से हुई मौत

पटना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेस्क्यू ऑपरेशन कर दोनों मजदूरों को बाहर निकाला गया। - Dainik Bhaskar
रेस्क्यू ऑपरेशन कर दोनों मजदूरों को बाहर निकाला गया।

पटना के बेउर इलाके में नमामि गंगे प्रोजेक्ट में काम कर रहे दो मजदूरों की जान जहरीली गैस की वजह से चली गई। एक निर्माण कंपनी के दो मजदूर सोमवार दोपहर सीवरेज में चैंबर के लिए उतरे थे। इसी दौरान दोनों का दम घुटने लगा। दोनों ने मदद के लिए शोर मचाया, जिसके बाद अन्य मजदूर दौड़ पड़े। इसी दौरान कंपनी के अधिकारी और बेउर थाने की पुलिस दलबल के साथ पहुंची और रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया। करीब एक घंटे तक कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने दोनों मजदूरों को बाहर निकाला। दोनों को गंभीर हालत में PMCH भेजा गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

मृतकों की पहचान बंगाल के मुर्सीदाबाद के निवासी मो. सद्दाम हुसैन एवं इकबाल हुसैन के रूप में हुई है। घटना के बाद मजदूरों में भय का माहौल है। मजदूरों का आरोप है कि इतने बड़े प्रोजेक्ट में हम लोगों से काम तो लिया जा रहा है लेकिन सुरक्षा की कोई व्यवस्था सही ढंग से नहीं की गई। मजदूरों ने हादसे के बाद जमकर हंगामा किया और सुरक्षा की मांग की।

इस संबंध में प्रशिक्षु DSP सह बेउर थानेदार अमित कुमार ने बताया कि दोनों मजदूर पश्चिम बंगाल के रहने वाले हैं। दोनों की मौत सीवरेज में दम घुटने से हुई है। मामले की जांच की जा रही है। कंपनी के अधिकारियों से पूछताछ की जा रही है। दोनों मजदूरों के परिजनों को सूचना दे दी गई है।

खबरें और भी हैं...