प्रदूषण से निजात की कवायद:पुराने परमिट पर चला सकेंगे नई सीएनजी सिटी बस, खरीदने के लिए 7.50 लाख रू तक अनुदान

पटना12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
राजधानी में डीजल वाली बसों के परिचालन पर लगेगी रोक। - Dainik Bhaskar
राजधानी में डीजल वाली बसों के परिचालन पर लगेगी रोक।

पटना शहर में डीजल चालित सिटी बसों के परिचालन पर रोक लगेगी। सीएनजी किट लगाकर भी नहीं चला सकेंगे। इन बसों के मालिक पुराने परमिट पर नई सीएनजी बस खरीदकर चला सकेंगे। सरकार द्वारा सीएनजी बस की लागत का 50 फीसदी या अधिकतम 7.50 लाख का अनुदान दिया जाएगा। इसका लाभ लेने के लिए जिला परिवहन कार्यालय में आवेदन देना हाेगा।

इसपर डीएम की अध्यक्षता में गठित कमेटी द्वारा फैसला लिया जाएगा। गुरुवार को परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल द्वारा जारी आदेश के मुताबिक बस मालिकाें को मार्च 2022 तक योजना का लाभ मिलेगा। आवश्यकता पड़ने पर 2023 तक योजना को विस्तारित किया जा सकता है। अभी डीजल चालित ऑटो को सीएनजी में बदलने के लिए अनुदान दिया जा रहा है। 31 मार्च तक योजना का लाभ ऑटो मालिकों को मिलेगा। पहली बार सिटी बसों के मालिकों के लिए योजना लाई गई है।

योजना की शर्त

  • 16 और 24 सीट वाली बसों के लिए अनुदान मिलेगा।
  • लागत का 50 फीसदी या अधिकतम 7.50 लाख मिलेंगे।
  • पुराने परमिट पर नई सीएनजी बस चला सकेंगे।
  • पुराने वाहन को शहर से बाहर चला सकेंगे।
  • सीएनजी बस का रंग और डिजाइन एक जैसा होगा।
  • बसों का रूट नंबर का निर्धारण परिवहन विभाग करेगा।
  • पुरानी बस पकड़े जाने पर अनुदान राशि वसूली जाएगी।
  • सीएनजी बस की खरीद के लिए लोन लेने काे स्वतंत्र होंगे।

लाभुकों के चयन के लिए कमेटी गठित

पुरानी सिटी राइड बस की जगह सीएनजी बस खरीदने के लिए जिला परिवहन पदाधिकारी के पास आवेदन देना है। लाभुक का चयन पुराने वाहन के आधार पर होगा। पहले चरण में 50 लाभुकाें को चयन का लक्ष्य है। आवेदन की समीक्षा कर अनुदान का फैसला जिलास्तरीय पांच सदस्यीय कमेटी करेगी। कमेटी के अध्यक्ष डीएम होंगे। सदस्य सचिव डीटीओ, सदस्य एसडीओ, संयोजक मोटरयान निरीक्षक और सदस्य प्रवर्तन अवर निरीक्षक होंगे।

कोरोना में कई गाड़ियों का परिचालन बंद है : शहर में करीब 140 सिटी राइड बसों का परिचालन हो रहा है। बिहार मोटर ऑल इंडिया रोड ट्रांसपोर्ट वर्कर फेडरेशन के महासचिव राजकुमार झा ने कहा कि शहर में 310 सिटी राइड बसों का परमिट है। कोरोना में आर्थिक संकट होने के बाद कई गाड़ियों का परिचालन बंद है। वर्तमान समय में 140 बसों का परिचालन हो रहा है।

आवेदन के साथ देने होंगे ये कागजात

  • पुराने वाहन का आरसी बुक
  • नए सीएनजी वाहन का कोटेशन
  • पुराने वाहन का स्वीकृत परमिट
  • पुराने वाहन का फिटनेस प्रमाण पत्र
  • पुराने वाहन का वैध बीमा प्रमाण पत्र
  • पुराने वाहन का प्रदूषण प्रमाण पत्र
  • लाभुक का आधार कार्ड
  • लाभुका का बैंक अकाउंट
  • शपथ पत्र : पुरानी डीजल बस का परिचालन नहीं करेंगे।
  • वित्त पोषण संस्था का ऋण स्वीकृति पत्र
खबरें और भी हैं...