• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Nitish Said In 2 Days, All DMs Should Report The Damage To Crops Due To Floods And Rains, No One Should Be Deprived Of Relief

मुख्यमंत्री ने किया हवाई सर्वे:नीतीश बोले- 2 दिन में सभी डीएम बाढ़ और बारिश से फसलों के हुए नुकसान की रिपोर्ट दें, कोई भी राहत से वंचित नहीं रहे

पटना19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाढ़ व बारिश के हालात का जायजा लेने के बाद बैठक के दौरान पदाधिकारियों के साथ सीएम नीतीश कुमार। - Dainik Bhaskar
बाढ़ व बारिश के हालात का जायजा लेने के बाद बैठक के दौरान पदाधिकारियों के साथ सीएम नीतीश कुमार।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के सभी जिलाधिकारियों (डीएम) से बाढ़ व बारिश से फसलों के नुकसान की रिपोर्ट 2 दिन में मांगी है। वे गुरुवार को किशनगंज, पूर्णिया, अररिया, सुपौल, सहरसा व समस्तीपुर जिले के बारिश से प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे करने के बाद इन जिलों के डीएम के साथ बैठक कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले चरण में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की गई तथा क्षति का भी आकलन कराया गया।

हाल में अधिक बारिश से कई जिलों में बाढ़ की स्थिति बनी। फसल क्षति के साथ अन्य प्रकार के नुकसान हुए। सभी जिलाधिकारी, अब तक हुई क्षति की पूरी रिपोर्ट दें। इस बारे में जिलाधिकारी, आपदा प्रबंधन, कृषि तथा पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग समन्वय बनाकर काम करें। जहां ज्यादा बारिश से बुआई नहीं हो सकी, उसका भी आकलन हो।

कोई भी राहत से वंचित नहीं रहे। लोगों को भरोसा दिया जाए कि नुकसान को लेकर उन्हें हर प्रकार की सहायता दी जाएगी। जल संसाधन विभाग के सचिव संजीव हंस व आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बाढ़ संर्घषात्मक कार्य से लेकर राहत-बचाव के काम बताए।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबंधित जिलों के पदाधिकारियों ने बताए हालात

बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार व चंचल कुमार, मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण, विकास आयुक्त आमिर सुबहानी, कृषि विभाग के सचिव एन सरवन कुमार, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार मौजूद थे, जबकि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबंधित जिलों के प्रमंडलीय आयुक्त, डीएम, एसएसपी, एसपी जुड़े हुए थे। हवाई सर्वेक्षण में मुख्यमंत्री के साथ संजीव हंस, संजय कुमार अग्रवाल के अलावा मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार भी थे।

खास निर्देश

  • फसल क्षति की कहीं से भी जानकारी मिले तो उसका आकलन कराएं।
  • लोगों को भरोसा दें कि उनको हर प्रकार की सहायता दी जाएगी
  • राहत से कोई भी वंचित न रहे।
  • बाढ़ से टूटी सड़कें जल्द बनें, मरम्मत की अपडेट जानकारी लें।
  • 6 जिलों के डीएम ने अपने-अपने यहां के हालात बताए।
खबरें और भी हैं...