पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नीतीश का वार:नीतीश बोले- हम काम करनेवाले लोग; भागलपुर दंगे में उन्होंने जिन्हें बचाया, हमने उन्हें सजा दिलाई

पटना8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक-एक काम किया। क्या नहीं किया? हम काम करने वाले लोग हैं। वो सिर्फ जुबान चलाते हैं। ठीक से देख लीजिए कि वो किस चीज के विशेषज्ञ हैं? उनको अपने परिवार के उत्थान की विशेषज्ञता है। - Dainik Bhaskar
एक-एक काम किया। क्या नहीं किया? हम काम करने वाले लोग हैं। वो सिर्फ जुबान चलाते हैं। ठीक से देख लीजिए कि वो किस चीज के विशेषज्ञ हैं? उनको अपने परिवार के उत्थान की विशेषज्ञता है।
  • नीतीश का राजद के ‘माई’ समीकरण पर हमला, लालू-राबड़ी से पूछा-सिवाय वोट लेने के अल्पसंख्यकों के लिए क्या किया?

पटना| जदयू अध्यक्ष व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजद के ‘माई’ (मुस्लिम-यादव) समीकरण पर सीधा हमला बोला। उन्होंने पति-पत्नी (लालू प्रसाद, राबड़ी देवी) से पूछा-’सिवाय अल्पसंख्यकों का वोट लेने के, आपने उनके लिए क्या किया?’ नीतीश ने भागलपुर दंगा का जिक्र करते हुए लालू-राबड़ी सरकार को कठघरे में खड़ा किया।

कहा-दंगा के जिन दोषियों को बचाया गया, उनको तो हमारी सरकार ने सजा दिलाई। हमने दंगा पीड़ितों को मुआवजा, पेंशन दिया। नीतीश, मंगलवार को दो किश्तों में 24 विधानसभा क्षेत्रों की वर्चुअल रैली को संबोधित कर रहे थे। नीतीश के कुल 110 मिनट के भाषण का कमोबेश पूरा हिस्सा राजद राज और अपने 15 वर्ष के शासन का फर्क बताने में गुजरा। अपना काम बताने के दौरान वे लगातार कहते रहे कि ‘अरे, हमने कौन सा काम नहीं किया? बिना काम किए इतना सब हो गया; विकास दर डबल डिजिट का हो गया?’ बोले-’हम काम करने वाले लोग हैं और वो माल बनाने-खाने वाले लोग हैं। जनता मालिक है। सबकुछ देख ले, परख ले, तब तय करे। हम तो यही कहेंगे कि बिहार की और बेहतरी के लिए एनडीए को जिताना चाहिए।’

कसा तंज... एडवाइजर के कहने से बोल रहा विपक्ष

जदयू अध्यक्ष ने विपक्ष पर तंज कसा-अनुभव नहीं है। बिहार की समझ नहीं है। क्या करना है, पता नहीं। बस बोल देना है। एडवाइजर के कहने पर बोलता है। बताइए, ऐसा कोई देश है, जहां सबको सरकारी नौकरी मिली है? अरे, रोजगार का अवसर बनाया जाता है। हमने बनाया। उन लोगों ने कितनों को नौकरी दी-15 साल में सिर्फ 95, 734 को। हमने 6 लाख 8 हजार 893 लोगों को नौकरी दी। प्रदेश जदयू के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ.अशोक चौधरी ने कहा कि विपक्ष बताए कि उसने नौजवानों के लिए क्या किया?
मुंबई में बत्ती गुल बा, बिहार में लाइट फुल बा

जदयू के राष्ट्रीय महासचिव संजय कुमार झा ने बिहार में हुए विकास का हवाला देते हुए ‘बिहार में का बा’ का जवाब दिया-’मुंबई में बत्ती गुल बा, बिहार में लाइट फुल बा।’ उन्होंने जल-जीवन-हरियाली अभियान की चर्चा की। वहीं, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव (संगठन) आरसीपी सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार ने राजनीति में नेताओं की साख स्थापित की। यह चुनाव बिहार को विकसित बनाने के लिए है। कोरोना से बचाव के मामले में बिहार ने अमेरिका, इंग्लैंड आदि देशों को भी पीछे छोड़ दिया।

खबरें और भी हैं...