पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आंकडों में सुधार:बिहार के 13 जिलों में कोरोना का 1 भी नया केस नहीं मिला

पटना19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टीकाकरण की नई व्यवस्था के पहले दिन राज्य में 63493 (रात 9 बजे तक) लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया - Dainik Bhaskar
टीकाकरण की नई व्यवस्था के पहले दिन राज्य में 63493 (रात 9 बजे तक) लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया
  • प्रदेश के 25 जिलों में 104 नए पॉजिटिव, सक्रिय मरीज अब मात्र 1182

राज्य के 25 जिलों में बुधवार को 104 नए कोरोना के संक्रमित मरीज मिले हैं। 13 जिलों में एक भी नया संक्रमित मरीज नहीं मिला है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार सबसे अधिक समस्तीपुर में 13 नए कोरोना मरीज मिले हैं, दूसरे नंबर पर अररिया है जहां 12 नए मरीज मिले हैं। पटना तीसरे नंबर पर है यहां सिर्फ 11 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं।

औरंगाबाद, बांका, बक्सर, गोपालगंज, जहानाबाद,कैमूर, कटिहार, लखीसराय, नवादा, सहरसा, शिवहर, सीतामढ़ी तथा पश्चिम चंपारण में एक भी नया मरीज बुधवार को नहीं मिला है। जबकि भागलपुर, भोजपुर, पूर्वी चंपारण, जमुई,मधेपुरा, नालंदा, शेखपुरा में 1-1 नया मरीज कोरोना का मिला है। चार जिलों को छोड़कर बाकी सभी जिलों में 10 से कम नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। बुधवार को मंगलवार से कम नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। बिहार में सक्रिय मरीजों की संख्या अब 1182 रह गई है।

नई व्यवस्था के तहत पहले दिन 63493 लोगों लगा टीका, सिर्फ स्थाई केंद्रों पर हुआ वैक्सीनेशन

टीकाकरण की नई व्यवस्था के पहले दिन राज्य में 63493 (रात 9 बजे तक) लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया। बुधवार को राज्यभर में सिर्फ स्थाई केंद्रों पर कोरोना का टीका लगाया गया। नई व्यवस्था में बुधवार को सिर्फ स्थाई व शुक्रवार को नियमित के साथ कोविड टीकाकरण होना है। राज्यभर में 851 सेंटरों पर टीका लगाया गया है।

बिहार को 9.59 लाख टीके की डोज मिली
पिछले कई दिनों से टीके की कमी से जूझ रहे बिहार को बुधवार को 9.59 लाख टीके की डोज मिली है। पुणे से टीके की यह डोज बुधवार को बिहार पहुंची है जिसे सभी जिलों में भेज दिया गया है। टीका मिलने के बाद गुरुवार से टीकाकरण की गति बढ़ेगी।

पांच जिलों में किसी को नहीं लग पाया टीका
टीके की कमी के कारण 5 जिलों में बुधवार को किसी को भी टीका नहीं लगा। गोपालगंज में लगातार चौथे दिन टीकाकरण शून्य रहा है। सबसे अधिक बांका में 7703 लोगों को टीका लगा है, वहीं दूसरे नंबर पर पटना है जहां 7500 से अधिक लोगों को टीका लगाया गया है।

देश के 174 जिलाें में चिंता वाले वैरिएंट
35 राज्याें और केंद्रशासित प्रदेशाें के 174 जिलाें में सार्स-सीओवी2 के चिंता वाले वैरिएंट मिले हैं। सबसे ज्यादा महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब, तेलंगाना, प. बंगाल और गुजरात में मिले हैं। इनकी पहचान अल्फा, बीटा, गामा, डेल्टा और डेल्टा का म्यूटेंट वैरिएंट डेल्टा प्लस बताई गई है।

खबरें और भी हैं...