पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Not Received From Government, AIIMS Ordered Injection From Sri Lanka, 10 Patients Of Black Fungus Were Found, 2 Died

महामारी में इंजेक्शन का अभाव:सरकार से नहीं मिला, पटना एम्स ने श्रीलंका से मंगाया इंजेक्शन; ब्लैक फंगस के 10 नए मरीज मिले, 2 की मौत

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एम्स और आईजीआईएमएस में भर्ती मरीजों के लिए एम्फोटेरेसिन-बी इंजेक्शन नहीं मिल पा रहा है। - Dainik Bhaskar
एम्स और आईजीआईएमएस में भर्ती मरीजों के लिए एम्फोटेरेसिन-बी इंजेक्शन नहीं मिल पा रहा है।

ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। गुरुवार को दो अस्पतालों में 10 मरीज भर्ती हुए। एम्स में तीन नए मरीज भर्ती हुए। यहां अब तक भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या 173 हो गई है। आईजीआईएमएस में सात नए मरीज भर्ती हुए। इनमें चार मरीज लक्षण लेकर भर्ती हुए हैं। इनकी अभी रिपोर्ट नहीं आई है। यहां दो मरीजों की मौत हो गई। यहां ब्लैक फंगस के 134 मरीज भर्ती हैं। एनएमसीएच में आठ और पीएमसीएच में 22 मरीज भर्ती हैं। उधर पांचवें दिन भी एम्स और आईजीआईएमएस में भर्ती मरीजों के लिए एम्फोटेरेसिन-बी इंजेक्शन नहीं मिला।

जबकि इन्हीं दोनों अस्पतालों में अधिक मरीज भर्ती हैं। पीएमसीएच को 98 और एनएमसीएच को 80 वायल इंजेक्शन मिला। एम्स ने अपने स्तर से श्रीलंका से एम्फोटेरेसिन-बी का 1750 वायल इंजेक्शन मंगाया है। नोडल अफसर डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि यह इंजेक्शन भी भर्ती मरीजों को मुफ्त दिया जाएगा। अस्पतालों को पोसाकोनाजोल टैबलेट की आपूर्ति भी समय पर नहीं हो रही है। इंजेक्शन नहीं मिलने पर पोसाकोनाजोल टैबलेट

दिया जाता है। एक टैबलेट की कीमत करीब पांच सौ रुपए है। संक्रमित मरीज को प्रतिदिन तीन टैबलेट की जरूरत होती है। आईजीआईएमएस में शनिवार के बाद एम्फोटेरेसिन-बी इंजेक्शन की सप्लाई अभी तक नहीं की गई। गुरुवार को दवा मिलने की उम्मीद थी पर नहीं मिली। ब्लैक फंगस के मरीज को प्रतिदिन पांच से छह वायल इंजेक्शन की जरूरत होती है।

40 नए केस मिले, 4 प्रखंड कोरोनामुक्त
पटना जिले में गुरुवार काे 40 काेराेना मरीज मिले। आईजीआईएमएस में तीन और एम्स में चार मरीजों की मौत हो गई। जिले के 23 प्रखंडाें में से चार कोरोनामुक्त हो गए हैं। शेष 19 प्रखंडाें में 390 एक्टिव मरीज हैं। जाे प्रखंड काेराेना मुक्त हाे गए उनमें बख्तियारपुर, मोकामा, मनेर और बेलछी शामिल हैं। अभी सबसे अधिक सदर प्रखंड में 252 मरीज हैं। दानापुर में 32, बाढ़ में 24, फतुहा में 15, फुलवारीशरीफ में 12, संपतचक, पालीगंज, दनियावां और अथमलगोला में 7-7, बिक्रम में 6, पंडारक में 4, पुनपुन, मसौढ़ी, दुल्हिन बाजार और बाढ़ में 3-3, नौबतपुर में 2, धनरूआ, खुसरूपुर और घोसवरी में 1-1 एक्टिव मरीज है।

खबरें और भी हैं...