कुख्यात बिरेंद्र यादव बेटा और भाई के साथ धराया:मधेपुरा के अपराधी पर था 50 हजार का इनाम, मुजफ्फरपुर के गायघाट में छिपा था

पटना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार STF की टीम को मुजफ्फरपुर में एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। मधेपुरा जिले का कुख्यात व फरार अपराधी बिरेंद्र यादव गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ में इसके अपराधी बेटे सुनील यादव और सगे भाई धीरेंद्र यादव को भी पकड़ा गया है। तीनों ही मधेपुरा जिले के मुरलीगंज के कुख्यात अपराधी हैं। लंबे वक्त से फरार चल रहे थे। बिरेंद्र यादव पर तो सरकार की तरफ से 50 हजार रुपए का ईनाम भी रखा गया था। अकेले इस कुख्यात के ऊपर हत्या, लूट, रंगदारी और बलात्कार सहित क्राइम के गंभीर वारदातों में कुल 9 केस दर्ज हैं। जबकि, बेटे सुनील यादव के उपर लूट और रंगदारी के 3 केस दर्ज हैं। इसी तरह धीरेंद्र यादव पर भी आपराधिक मामले दर्ज हैं।

ये अपराधी मुरलीगंज थाना के तहत खिरखिरैया इलाके के रहने वाले हैं। गिरफ्तारी के डर से इन तीनों ने अपना इलाका छोड़ रखा था। बार-बार अपना लोकेशन बदल रहे थे। जिस वजह से जिले की पुलिस इन्हें पकड़ नहीं पा रही थी। तब जाकर इन्हें गिरफ्तार करने की जिम्मेदारी बिहार STF को मिली। इसके बाद से टीम इनके लोकेशन को खंगालने में जुट गई। इन अपराधियों की मूवमेंट को लेकर इनपुट जुटाने लगी। जब यह पक्का हुआ कि वर्तमान में इनका लोकेशन मुजफ्फरपुर जिले में है तो फिर टीम ने फोर्स के साथ गायघाट इलाके में रेड किया और फिर तीनों को उनके ठिकाने से गिरफ्तार किया। पिछले कई दिनों से इन लोगों ने गायघाट में ही अपना ठिकाना बना रखा था। पुलिस की नजरों से खुद को बचाकर वहां रह रहे थे।

खबरें और भी हैं...