कोरोना काल:पटना जिले में अब कोरोना के 6756 एक्टिव मरीज, इनमें 82 फीसदी से ज्यादा मुख्य शहरी इलाके के शामिल

पटना8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
53 रेलयात्री पाए गए पॉजिटिव - Dainik Bhaskar
53 रेलयात्री पाए गए पॉजिटिव
  • पटना सदर प्रखंड में 5579, फुलवारीशरीफ में 420, दानापुर में 266, संपतचक प्रखंड में 85, बाढ़ में 66 केस
  • 9 संक्रमितों की मौत, पीएमसीएच के 12 स्टाफ भी निकले पॉजिटिव

काेरोना के बढ़ रहे मरीजों में पटना जिला राज्य में लगातार टॉप पर बना हुआ है। सोमवार को भी सबसे अधिक 1197 मरीज मिले। इसके साथ जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या 6756 पहुंच गई है। इनमें सबसे अधिक 5579 पटना सदर प्रखंड में हैं। इसके बाद फुलवारीशरीफ प्रखंड में 420, दानापुर प्रखंड में 266, संपतचक प्रखंड में 85, बाढ़ प्रखंड में 66 सक्रिय मरीज हैं। पीएमसीएच के कोविड अस्पताल में 83 मरीज भर्ती हैं। यहां तीन मरीजों सुपाैल के योगेंद्र नारायण चौधरी, पूर्णिया की शैली देवी और बाजार समिति की रहने वाली कल्पना सिंह की मौत हाे गई। पीएमसीएच दो डॉक्टर और 12 कर्मचारी भी संक्रमित हुए हैं। पटना एम्स में 13 मरीज भर्ती हुए हैं। ये कंकड़बाग, फुलवारीशरीफ, बांकीपुर, किदवईपुरी, बुद्धा काॅलाेनी के रहने वाले हैं।

स्वस्थ होने पर 13 मरीजों को छुट्टी मिली। एम्स के सात डॉक्टर संक्रमित हुए हैं। इनमें तीन फैकल्टी और चार रेजिडेंट डॉक्टर हैं। दो डॉक्टरों को एम्स में भर्ती किया गया है। यहां भी कोरोना संक्रमित तीन मरीजों की मौत हाे गई। मृतकाें में कटिहार के अरुण कुमार, अररिया के अजय कुमार सिंह और पटना के बाेरिंग कैनाल राेड की आशा कुमारी शामिल हैं। एम्स में अभी 106 मरीजों का इलाज चल रहा है। एनएमसीएच में सोमवार को 15 मरीज भर्ती हुए। वहीं सात मरीजों काे ठीक होने पर छुट्टी दी गई। अब अस्पताल में 96 मरीजों का इलाज चल रहा है। यहां तीन काेराेना मरीजाें सीतामढ़ी के उमेश लाल, पत्रकारनगर पटना के राधेश्याम गुप्ता और मधेपुरा के फैजल्लाह खान की मौत हो गई।

53 रेलयात्री पाए गए पॉजिटिव

पटना जंक्शन और दानापुर रेलवे स्टेशन पर साेमवार काे जांच में 53 यात्री पॉजिटिव पाए गए। 03202 कुर्ला-पटना एक्सप्रेस स्पेशल के 597 यात्रियों की पटना जंक्शन पर जांच हुई, जिनमें 22 पॉजिटिव पाए गए। इनमें दो महिलाएं भी थीं। जबकि लोकमान्य तिलक टर्मिनल मुंबई-पटना एक्सप्रेस स्पेशल के 648 यात्रियों की दानापुर स्टेशन पर जांच हुई, जिनमें 13 पॉजिटिव पाए गए। मुंबई से आने वाली ट्रेनों के अलावा अन्य ट्रेनों में स्वैच्छिक जांच में पटना जंक्शन पर सुबह 8 से दिन के दो बजे तक 269 यात्रियों की जांच हुई, जिनमें 18 पॉजिटिव मिले। सभी कोरोना पॉजिटिव यात्रियों को होटल पाटलिपुत्र अशोक में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में आइसाेलेट कर दिया गया।

विशेषज्ञ बोले-शहर में लापरवाही ज्यादा

शहर में लापरवाही ज्यादा है। लोग भीड़ लगाने और उसमें जाने से परहेज नहीं करते। इसके साथ यहां टेस्टिंग भी ज्यादा है। जनसंख्या घनत्व अधिक है। यही कारण है कि यहां मरीज अधिक हैं।
-डाॅ. राजीव रंजन, वरीय फिजिशियन

शहर में ओपन स्पेस काफी कम है। यहां बंद कमरे में लोग ज्यादा से ज्यादा काम को निपटाते हैं। इसलिए यहां एक से दूसरे को कोरोना होने का खतरा ज्यादा रहता है।
- डाॅ. दिवाकर तेजस्वी, वरीय फिजिशियन

डीएम ने कहा-कांटेक्ट ट्रेसिंग से बढ़े मरीज

एक संक्रमित मिलने पर कांटेक्ट ट्रेसिंग के तहत संपर्क में आने वाले 14 से 15 लोगों की जांच का निर्देश दिया गया है ताकि संक्रमित मरीज के आसपास रहने वालों को कोरोना से बचाया जा सके। पहले यह जांच 4 से 5 लोगों की कराई जाती थी। इसकी संख्या बढ़ाकर 15 की गई है।

-डॉ. चंद्रशेखर सिंह, डीएम

खबरें और भी हैं...