पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Now The Elevated Road To Be Built Up To Mahuli Will Be Connected To Mithapur Flyover, Will Pass Over Sipara Bridge

डिजाइन में होगा बदलाव:अब मीठापुर फ्लाईओवर से जुड़ेगा महुली तक बनने वाला एलिवेटेड राेड, सिपारा पुल के ऊपर से गुजरेगा

पटना18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पटना मेट्रो प्रोजेक्ट के कारण आई नौबत, मुंबई के विशेषज्ञ से मांगा सुझाव। - Dainik Bhaskar
पटना मेट्रो प्रोजेक्ट के कारण आई नौबत, मुंबई के विशेषज्ञ से मांगा सुझाव।

मीठापुर-महुली फोरलेन एलिवेटेड रोड के डिजाइन में बदलाव हाेगा। इसके लिए बिहार राज्य सड़क विकास निगम ने मुंबई के विशेषज्ञ से सुझाव मांगा है। कारण, मीठापुर बस स्टैंड हटने के बाद एजुकेशन हब के पास मेट्रो स्टेशन का निर्माण होगा। पिछले दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मीठापुर इलाके के निरीक्षण के दौरान इसके डिजाइन में बदलाव कर मीठापुर-महुली फोरलेन रोड को सीधे मीठापुर जंक्शन से जोड़ने का सुझाव दिया था। पहले आर्यभट्ट विवि के दक्षिण से मीठापुर महुली एलिवेटेड की दो लेन और दो लेन उत्तर से होकर आर्यभट्ट विवि के सामने मिल रही थी।

अब यह मीठापुर फ्लाईओवर जंक्शन से सीधे जुड़ेगा। इसके साथ ही डिजाइन में बदलाव के बाद मीठापुर-महुली एलिवेटेड का निर्माण सिपारा पुल के ऊपर से होगा। पहले के डिजाइन में सिपारा पुल के नीचे से सड़क जा रही थी। सिपारा के बाद एलिवेटेड का निर्माण होना था। निगम के अधिकारियों के मुताबिक डिजाइन फाइनल होने के बाद निर्माण कार्य शुरू हाेगा।

मीठापुर जंक्शन पर बढ़ेगा दबाव
मीठापुर जंक्शन पर वर्तमान में आर ब्लॉक, बुद्धमार्ग और करबिगहिया की ओर से आने वाले फ्लाईओवर मिल रहे हैं। इस जंक्शन से अनिता सिंह लेन और यारपुर लेन निर्माणाधीन है। इसी जंक्शन से मीठापुर-महुली एलिवेटेड को जोड़ने के बाद गाड़ियों का दबाव बढ़ेगा। यहां गाड़ियों का परिचालन सामान्य रखने के लिए मंथन चल रहा है।

दक्षिण पटना के लोगों को मिलेगी सीधी कनेक्टिविटी
मीठापुर-महुली फोरलेन एलिवेटेड की कुल लंबाई 8.84 किमी है। इसमें 7 किमी फोरलेन एलिवेटेड का निर्माण होगा। इसके दोनों तरफ सर्विस रोड होगा। अटल पथ की तरह यू-टर्न नहीं होगा। एनएच-83 स्थित पटना रिंग रोड से जुड़ने के बाद गया, राजगीर, जहानाबाद आदि इलाके को सीधी कनेक्टिविटी मिलेगी। करीब 8-10 मिनट में सफर तय कर सकेंगे।

अभी जाम का सामना करना पड़ता है। पटना-गया रेलवे लाइन के दक्षिण सड़क निर्माण के लिए 1960 में ही जमीन का अधिग्रहण किया गया था। 60 फीट चौड़ी सड़क से अतिक्रमण हटाने, पेड़ को बिहटा-सरमेरा रोड के किनारे शिफ्ट करने का कार्य पूरा कर लिया गया है। वहीं, सिपारा, परसा, नथुपुर और रहीमपुर में जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है।

डिजाइन बदलने पर बढ़ेगी लागत

नया डिजाइन आने के बाद अधिक खर्च होने की उम्मीद है। अभी परियोजना की कुल राशि 1000 करोड़ है। इसमें सड़क निर्माण पर 700 करोड़ खर्च करने की योजना थी। शेष 300 करोड़ आरओबी के निर्माण और जमीन अधिग्रहण के साथ पेड़ को शिफ्ट करने में खर्च करने की योजना थी।

अटल पथ का पहला फुट ओवरब्रिज 15 अगस्त से होगा चालू

आर ब्लाॅक-दीघा अटल पथ का पहला फुट ओवरब्रिज 15 अगस्त को चालू होगा। निर्माण एजेंसी ने महेशनगर स्थित फुट ओवरब्रिज का गार्टर दूसरी लेन पर चढ़ाने का कार्य शुरू किया है। इसके लिए एक सप्ताह तक आर ब्लॉक से दीघा की ओर जाने वाले हाईवे को बंद किया जाएगा। इस दौरान वाहनों का परिचालन सर्विस रोड से होगा।

वहीं, वर्तमान में बंद दीघा से आर ब्लॉक की ओर जाने वाले हाईवे को चालू किया जाएगा। बुजुर्ग और दिव्यांगाें के लिए लिफ्ट की व्यवस्था हाेगी। अटल पथ पर चार फुट ओवरब्रिज बनाने हैं। एमएलए फ्लैट और राजीवनगर के पास भी निर्माण कार्य शुरू हाे चुका है। पुनार्इचक संप हाउस के पास जमीन चिह्नित करने का कार्य जारी है।

एफसीआई की नहीं मिली जमीन
उधर गंगा पाथवे और जेपी सेतु से अटल पथ को मिलाने के लिए जमीन का पेंच फंसा हुआ है। 2.73 एकड़ जमीन एफसीआई से हस्तांतरित नहीं होने से निर्माण कार्य ठप है। एफसीआई के पास जमीन हस्तांतरण का काेई दस्तावेज नहीं है, जबकि उसके द्वारा 30 करोड़ की राशि देने की मांग की गई है। तत्कालीन मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह की अध्यक्षता में बैठक हुई थी, लेकिन काेई परिणाम नहीं निकला।

खबरें और भी हैं...