अब 3 डोज वाली निडिल फ्री वैक्सीन लगेगी:बिहार में 18 साल से ऊपर वालों के लिए कोवैक्सीन, कोविशील्ड और स्पूतनिक के बाद अब जायकोव-डी

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अब बिहार में नई वैक्सीन को लेकर ट्रेनिंग चल रही है। यह वैक्सीन का चौथा ऑप्शन होगा। कोवैक्सीन, कोविशील्ड, स्पूतनिक के बाद अब जायकोव-डी का विकल्प तैयार किया जा रहा है। 3 डोज वाली निडिल फ्री इस वैक्सीन को 18 साल से ऊपर वालों को देने की तैयारी चल रही है। बहुत जल्द बिहार में इसका शुभारंभ हो जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की माने तो 16 जनवरी से वैक्सीन की दिशा में कोई बड़ी शुरुआत हो सकती है।

निडिल फ्री डिवाइस से स्किन में दी जाएगी वैक्सीन
प्रशिक्षण में शामिल होने वाले पटना के जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एस पी विनायक का कहना है कि सरकार ने जायकोव-डी वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। अब इसके लिए प्रशिक्षण का काम तेजी से चल रहा है। प्रशिक्षण पूरा होने के बाद वैक्सीन दी जाएगी। डॉ. विनायक का कहना है कि प्रशिक्षण में बताया जा रहा है कि निडिल फ्री डिवाइस से स्किन में कैसे वैक्सीन दी जाएगी। डॉ. विनायक का कहना है कि प्रशिक्षण का काम तेजी से चल रहा है। क्योंकि बहुत जल्द इसकी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

जानिए कैसे लगेगी 3 डोज वैक्सीन
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एसपी विनायक का कहना है कि अब तक दो डोज वाली वैक्सीन थी। लेकिन, अब जायकोव-डी 3 डोज वाली होगी। इसमें पहली डोज और दूसरी डोज के बीच में 28 दिनों का अंतर होगा। इसी तरह दूसरे और तीसरे डोज के बीच भी 28 दिनों का अंतर होगा। जायकोव-डी की पूरी डोज 56 दिनों में पूरी हो जाएगी।

ये वैक्सीन कब और कैसे देना है इसका प्रशिक्षण दिया जा रहा है। वैक्सीनेटरों को पूरी तरह से ट्रेंड करने के बाद वैक्सीनेशन के लिए पूरा सेटअप तैयार कर लिया जाएगा और सरकार के आदेश के बाद कार्रवाई की जाएगी।

बच्चों को लगेगी या नहीं, कोई आदेश नहीं
भारतीय फार्मा कंपनी जायडस कैडिला की वैक्सीन जायकोव-डी बच्चों को लगेगी या बड़ों को इस पर कोई आदेश नहीं दिया गया है। केंद्र सरकार की गाइडलाइन आने के बाद ही इस पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। इसके पूर्व प्रशिक्षण को लेकर काम किया जा रहा है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एसपी विनायक का कहना है कि यह 18 साल से ऊपर वालों को लगाने का डायरेक्शन आया है। जब 18 साल से नीचे वालों को देने का निर्देश आएगा तो उस हिसाब से ट्रेनिंग कराई जाएगी।

इसमें बिना ट्रेनिंग के वैक्सीनेशन नहीं दी जाएगी। जायकोव-डी 3 डोज की होगी। यह DNA बेस पर वैक्सीन है। कोवैक्सीन और कोविशील्ड और स्पूतनिक के बाद अब 3 डोज वाली भारतीय फार्मा कंपनी जायडस कैडिला की वैक्सीन जायकोव-डी भी 18 साल से ऊपर वालों को लगेगी। डॉ. विनायक का कहना है कि जो वैक्सीन नहीं लिए हैं उनके लिए यह एक विकल्प होगा।

सिर्फ सरकारी सेंटर में लगेगी जायकोव-डी
डॉक्टरों का कहना है कि जायकोव-डी वैक्सीन सिर्फ सरकारी सेंटर पर ही दी जाएगी। कोविशील्ड और कोवैक्सीन की तरह यह भी निशुल्क लगाई जाएगी। इसकी सप्लाई प्राइवेट संस्थानों में नहीं दी जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि सरकारी सेंटर पर इसे देने के लिए बिहार में पूरा सेटअप किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...