पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • NTPC Saved Lives Of Infected With '5T' Plan; NTPC Saved The Lives Of More Than 2000 Personnel In The Battle With Corona

कोरोना से जान बचाने का '5T' प्लान:NTPC ने टेस्ट, ट्रैक, ट्रेस, ट्रीट और टेक्नोलॉजी पर जोर देकर अपने 2 हजार कर्मचारियों की बचाई जान, कोविड सेंटर भी बनाया

पटना4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
NTPC​​​​​​​​​​​​​​ के लगभग सभी कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाई जा चुकी है। - Dainik Bhaskar
NTPC​​​​​​​​​​​​​​ के लगभग सभी कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाई जा चुकी है।

कोरोना महामारी में NTPC के '5T' प्लान ने 2 हजार लोगों की जान बचाई है। इस प्लान में टेस्ट, ट्रैक, ट्रेस, ट्रीट और टेक्नोलॉजी को बड़े पैमाने पर लागू किया गया है। इस दौरान देश की सबसे बड़ी बिजली उत्पादन कंपनी NTPC ने पावर प्लांट से बिजली देने के साथ सैकड़ों अस्पतालों को ऑक्सीजन भी दी।

क्या है NTPC का 5T प्लान

बिहार में 1320 मेगावॉट बिजली आपूर्ति कर रही NTPC की बाढ़ परियोजना ने पिछले साल अगस्त में एक समर्पित कोविड केंद्र स्थापित करने के निर्णय किया। यहां '5T' रणनीति के तहत टेस्ट, ट्रैक, ट्रेस, ट्रीट और टेक्नोलॉजी को लागू किया गया है। संक्रमितों की पहचान करने के लिए यहां ट्रू-नैट, एंटीजन और RTPCR जांच युद्ध स्तर पर की गई और मरीजों को उनके लक्षण के मुताबिक इलाज दिया गया।

NTPC पूर्वी क्षेत्र-1 के एक अधिकारी बताते हैं कि समय पर संक्रमित की पहचान, तुरंत आइसोलेशन और प्रभावी इलाज की दिशा में सैंपल टेस्टिंग को कर्मचारियों, सहयोगियों और उनके परिवार के बीच प्राथमिक रणनीति के रूप में मान्यता दी गई थी।

संसाधनों के लिए कंट्रोल रूम बनाया

NTPC ने बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अधिकारियों की एक समिति बनाई। इसमें अधिकारियों को रोटेशन में संक्रमित व्यक्तियों के लिए आवश्यक दवाइयों और इलाज का प्रबंध करने के लिए 24x7 हेल्पलाइन के तहत काम पर लगाया गया। क्योंकि NTPC के अधिकांश संयंत्र दूर के इलाकों में हैं। इसलिए किसी गंभीर मामले के सामने आने पर कोलकाता, पटना और रांची के स्पेशियलिटी अस्पताल में ऑक्सीजन और ICU सपोर्ट वाले बेड का तत्काल प्रबंध भी किया जाता है। कई बार इन अस्पतालों में रोगियों की लंबी कतार भी होती है, लेकिन यह सभी कर्मी प्रतिबद्धता से अनेक अस्पतालों से संपर्क में बने रहते हैं।

NTPC ने बढ़ाए संसाधन

NTPC न सिर्फ अपने सभी संसाधनों का उपयोग कर रहा है, बल्कि इसके लिए टेलीमेडिसिन इलाज जैसे नए उन्नत प्रयासों को प्राथमिकता भी दे रही है। शीर्ष प्रबंधन के साथ नेतृत्व नियमित रूप से स्थिति का जायजा ले रहा है और NTPC के कर्मचारियों और उनके परिवार के लिए राहत उपायों को लागू कर रहा है।

कोरोना के गंभीर मरीजों को एक छोटे अस्पताल से सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में एयर लिफ्ट करने का निर्णय, NTPC के शीर्ष प्रबंधन की विशेष पहल का हिस्सा है। इसके माध्यम से क्षेत्रीय टास्क फोर्स एयर लिफ्टिंग की व्यवस्था करते हुए दवाओं की बचत, मरीज की निगरानी, उसे कार्य स्थल से दूर एक स्थान पर परिचारकों की देखभाल की आवश्यकताओं को पूरा करता है।

टीकाकरण अभियान पर जोर

पूर्वी क्षेत्र की सभी 9 इकाइयों में एक मजबूत टीकाकरण अभियान जारी है। NTPC के लगभग सभी कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाई जा चुकी है और उनके परिवारजनों के लिए भी टीकाकरण अभियान जोरों पर है। वहीं, अपने एसोसिएट्स को इसका हिस्सा बनाते हुए CISF, ICH और प्लांट में कार्यरत संविदा श्रमिकों के लिए भी NTPC के डेडिकेटेड अस्पताल वैक्सीनेशन अभियान चला रहे हैं। अकेले बाढ़ परियोजना में ही 1200 से अधिक संविदा कर्मियों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी है।

खबरें और भी हैं...