• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • On The Question Of Going To Rajya Sabha For The Third Time, The Union Minister Said – You Will Be Sent Only..

RCP का टिकट फंसा तो पत्रकारों पर झल्लाए:ललन सिंह ने सवाल टाला, उधर केंद्रीय मंत्री झुझलाकर बोले- आपको ही भिजवा देते हैं...

पटना4 महीने पहले
केंद्रीय मंत्री RCP सिंह।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी JDU में अंदरखाने सब ठीक नहीं है। फिलहाल राज्यसभा चुनाव को लेकर राज्य में सरगर्मी तेज है। राजनीतिक गलियारों में तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। सबसे ज्यादा कयासबाजी JDU को लेकर हो रही है, क्योंकि केंद्रीय मंत्री RCP सिंह की खाली हो रही सीट पर अब तक ऐलान नहीं हुआ है। इससे पार्टी का कथित दोनों धड़े ललन गुट और RCP गुट बेचैन है। इन सब खबरों के बीच बुधवार को पत्रकारों पर ही सिंह झल्ला गए।

तीसरी बार उनके राज्यसभा जाने के सवाल पर झल्लाते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, आप (पत्रकार) बिहार से हैं, आपको ही भेजा जाएगा। उनके इस बयान के बाद एक बार फिर चर्चा शुरू हो गई है कि हो सकता है उनके नाम पर अभी फैसला नहीं हुआ है।

वहीं, बुधवार को ही पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह से जब पत्रकारों ने RCP के बारे में सवाल किया तो उन्होंने कहा, 'अभी तय नहीं हुआ है। कुछ नहीं जानते हैं। इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अधिकृत किया गया है।'

बता दें, सिंह पहली बार 2010 में राज्यसभा सांसद बने थे। फिर 2016 में JDU ने उन्हें दोबारा राज्यसभा भेजा। इस बार यदि वो राज्यसभा जाते हैं तो उनका ये तीसरा टर्म होगा।

CM या पार्टी अध्यक्ष से बात हुई की नहीं

राज्यसभा में तीसरी बार भेजे जाने के सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया। वह गोलमोल जवाब देते नजर आए। झल्लाते हुए उन्होंने कहा, 'ये सब कहने की चीज होती है क्या, हमको क्या पता है कि हम जा रहे हैं या नहीं जा रहे हैं।'

जब उनसे पूछा गया कि इसको लेकर मुख्यमंत्री या राष्ट्रीय अध्यक्ष से कुछ बात हुई है तो उन्होंने कहा, 'आपको इससे क्या मतलब है।'

किंग महेंद्र की जगह अनिल हेगड़े के नाम को किया फाइनल

पांच राज्यसभा की खाली हुई सीटों पर चुनाव की घोषणा के बाद बिहार में सियासी सरगर्मी तेज हो गई है। ऐसे में सभी दलों के भीतर उम्मीदवारों को लेकर खींचतान जारी है। JDU ने किंग महेन्द्र के निधन से खाली हुई सीट पर अनिल हेगड़े के नाम की घोषणा कर दी है, लेकिन RCP को पार्टी तीसरी बार राज्यसभा भेजेगी या नहीं इस पर फिलहाल संशय है। यदि आरसीपी सिंह को राज्यसभा नहीं भेजा जाएगा तो उनको मंत्री बने रहने के लिए छह महीने के अंदर लोकसभा या फिर राज्यसभा का सदस्य बनना होगा।