ऑक्सीजन के अभाव में मौत:महुआ में एक मरीज की ऑक्सीजन के अभाव में मौत, एक ने भर्ती लेने में की गई देरी से तोड़ा दम

हाजीपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बताया- संक्रमित व्यक्तियों के इलाज के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की गई

महुआ अनुमंडल अस्पताल में बने डेडिकेटेड कम हेल्थ केयर सेन्टर में मंगलवार की रात कोरोना पॉजिटिव दो मरीज की मौत हो गई। सांस लेने में परेशानी की शिकायत होने पर एक को सोमवार को डीसीएचसी में भर्ती किया गया था। मंगलवार की रात 10:30 बजे उसकी मौत हो गई। मौत के बाद शव को रैपिंग करने वाले कर्मी अस्पताल में नहीं थे। इसके लिए परिजन को बुधवार के दोपहर तक अस्पताल में बैठकर इंतजार करना पड़ा। वहीं संक्रमित दूसरे व्यक्ति की मौत अस्पताल में भर्ती होने से पहले हो गई। मृतक के परिजनों ने बताया कि सर्दी खांसी और सांस की समस्या के बाद कोरोना के सभी दवा खा रहे थे, अचानक देर रात सांस लेने अधिक परेशानी होने लगी जिससे महुआ कोरोना अस्पताल में लेकर आया जहां एक घंटा तक गुहार लगाने के बाद भी डॉक्टर व अस्पताल कर्मी ताकने नहीं आए और अस्पताल के बाहर ही दम तोड़ दिए।

परिजनों ने कहा : ऑक्सीजन के अभाव में हुई मौत
मृतक के परिजनों का कहना था कि उसके पति का ऑक्सीजन लेवल काफी कम हो जाने के बावजूद उसे ऑक्सीजन नहीं लगाया गया। क्योंकि शाम 06 बजे से ही ऑक्सीजन खत्म था। ऑक्सीजन के अभाव में उसके बेटे की मौत हो गई। हालांकि, नोडल पदाधिकारी ने बताया कि रात में ऑक्सीजन सिलेंडर था। वहीं, दूसरी ओर बुधवार को भी दोपहर 12 बजे तक ऑक्सीजन नहीं था। ऑक्सीजन मीटर नीचे गिरा हुआ था। इलाजरत पॉजिटिव मरीज के परिजन ऑक्सीजन का मीटर नीचे गिरा देख बाहर में खड़ा होकर डॉक्टर से ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की गुहार लगा रहे थे। दोपहर 2 बजे के बाद कई ऑक्सीजन सिलेंडर आया तब मरीजों को ऑक्सीजन उपलब्ध कराया जा सका।

खबरें और भी हैं...