महापर्व में अलर्ट पर हॉस्पिटल के ऑपरेशन थिएटर:स्वास्थ्य विभाग ने निजी नर्सिंग होम की एंबुलेंस को भी घाटों पर लगाने का दिया निर्देश

पटना8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर।

छठ महापर्व पर पटना के सभी बड़े हॉस्पिटल के ऑपरेशन थिएटर को अलर्ट मोड पर रखा गया है। इमरजेंसी सेवा को लेकर स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी हॉस्पिटल को अलर्ट में कहा गया है कि ऑपरेशन की व्यवस्था तैयार रहे और टीम को तैनात कर दिया जाए। भीड़ को देखते हुए ऐसा किया जा रहा है। मेडिकल टीम के साथ एंबुलेंस सेवा को लेकर विशेष निर्देश है।

अस्पतालों को जारी किया गया निर्देश

सिविल सर्जन ने पटना के सभी प्रमुख अस्पतालों को अलर्ट किया है। मेडिकल टीम से लेकर एंबुलेंस की बड़ी तैयारी की गई है। सिविल सर्जन ने एनएमसीएच, पीएमसीएच, गुरु गोविंद सिंह अस्पताल , इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान, इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान तथा कुर्जी अस्पताल के अलावा पटना के अन्य प्रमुख अस्पतालों में आपातकालीन चिकित्सा सेवा को 24 घंटे अलर्ट मोड पर रखने का आदेश दिया है। सिविल सर्जन की तरफ से जारी आदेश में पटना के सभी बड़े और प्रमुख अस्पतालों में ऑपरेशन थिएटर को 24 घंटे खुले रहने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही ऑपरेशन करने वाली टीम को भी अलर्ट पर रहने को कहा गया है।

घाटों पर लगाई जाएंगी प्राइवेट एम्बुलेंस

स्वास्थ्य विभाग ने पटना को निजी नर्सिंग होम की एंबुलेंस को भी घाटों पर लगाने का निर्देश दिया। कहा गया है कि ऐसे कई लोग हैं जो पटना में सेवा भाव को लेकर एंबुलेंस चलाते हैं। ऐसे लोगों से घाटों पर एम्बुलेंस लगाने की अपील की गई है। इसके साथ ही प्राइवेट हॉस्पिटल और नर्सिंग होम से भी एम्बुलेंस लगाने को कहा गया। आकस्मिक स्थिति के लिए प्राइवेट नर्सिंग होम को अलर्ट मोड में रहने का निर्देश दिया गया है। पटना के सभी सरकारी और प्रमुख प्राइवेट हॉस्पिटल को पूरी तरह से अलर्ट पर रहने को कहा गया।

कोरोना की जांच के लिए टीम तैयार

पटना में घाटों के लिए 91 मेडिकल टीम तैयार किया गया। इसके साथ ही 28 सरकारी एम्बुलेंस को घाटों पर लगा दिया गया। डॉक्टरों की अलग से 5 एंबुलेंस लगाई गई है। छठ पूजा के लिए 96 घाटों पर सुरक्षा और मेडिकल सेवा को लेकर तैयारी लगभग पूरी हो गई। सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी का कहना है कि मेडिकल टीम को प्रतिनियुक्त कर दिया गया। कोरोना की जांच और वैक्सीनेशन को लेकर भी टीम तैयार है। घाटों के आस पास इन्हें प्रतिनियुक्त किया जा रहा है। सिविल सर्जन का कहना है कि सेहत की सुरक्षा को लेकर स्वास्थ्य विभाग घाटों पर पूरी तरह से अलर्ट मोड में है।

खबरें और भी हैं...