CM नीतीश बोले- बिहार में शुरू हो गई तीसरी लहर:न्यू ईयर सेलिब्रेशन पर बढ़ाई सख्ती, 31 दिसंबर से 2 जनवरी तक पार्क रहेंगे बंद

पटनाएक वर्ष पहले
पटना का एसके पुरी पार्क।

IMA के कार्यक्रम में डॉक्टरों को संबोधित करते हुए CM नीतीश कुमार ने कहा कि- बिहार में कोरोना की तीसरी लहर शुरू हो चुकी है। कोरोना के खतरे को लेकर बिहार में सरकार ने सख्ती बढ़ा दी है। न्यू ईयर सेलिब्रेशन पर भी इसका बड़ा असर पड़ा है। सरकार ने 31 दिसंबर से 2 जनवरी तक सभी पार्कों और जैविक उद्यान केंद्रों को बंद कर दिया। इस दौरान किसी को भी एंट्री नहीं दी जाएगी। सांस्कृतिक व अन्य कार्यक्रमों पर रोक नहीं लगाई गई। कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन हुआ तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बिहार सरकार के मुख्य सचिव ने इस संबंध में मंगलवार को आदेश जारी कर अफसरों को हर हाल में पालन कराने का निर्देश दिया।

आपदा प्रबंधन की बैठक में लिया गया निर्णय
बिहार सरकार के मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण ने मंगलवार को जारी आदेश में कहा है कि राज्य में कोरोना महामारी के संक्रमण की स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए गृह विभाग की तरफ से 15 दिसंबर को आदेश जारी किया गया है। मुख्य सचिव का कहना है कि मंगलवार को हुई आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में निर्णय लिया गया है कि वर्तमान में कोविड 19 के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन जो वैरिएंट ऑफ कंसर्न भी है, इसके संक्रमण के प्रसार को रोकने पर काम करना होगा।

इस क्रम में नव वर्ष 2022 की पूर्व संध्या पर तथा 2022 के पहले दिन को होने वाले आयोजन एवं सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ के एकत्रित होने की संभावना के मद्देनजर सख्ती बढ़ाई जाएगी। इस क्रम में 15 दिसंबर को जारी गृह विभाग के आदेश में थोड़ा परिवर्तन भी किया गया है।

पार्कों में बंद होगा ताला, नहीं टूटे कोरोना की गाइडलाइन
मुख्य सचिव ने कहा है कि सभी पार्क एवं उद्यान जिसमें जैविक उद्यान को भी शामिल किया गया है उन्हें 31 दिसंबर से 2 जनवरी 2022 तक बंद रखा जाएगा। इन्हें पूर्णतया बंद रखा जाएगा इसमें किसी का प्रवेश नहीं होगा। मुख्य सचिव ने इस आदेश का कड़ाई से पालन कराने को लेकर भी अधिकारियों को निर्देश दिया है। इसके साथ ही मुख्य सचिव ने यह भी आदेश दिया है कि सभी प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेलकूद, शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिक आयोजनों और कार्यक्रमों में उपस्थिति व्यक्तियों द्वारा मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंस के नियम का पालन करना होगा।

कोरोना की सभी गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करना होगा। कोरोना की गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए आयोजकों के साथ संबंधित लोगो पर भी कार्रवाई की जा सकती है। आयोजक और कार्यक्रमों के प्रबंधकों को कोरोना गाइडलाइन के पालन कराने की जिम्मेदारी दी गई है। इसमें कहीं से मनमानी हुई तो कार्रवाई की जाएगी।

DM के साथ SP को दी गई जिम्मेदारी
कोरोना की गाइडलाइन में सख्ती को लेकर मुख्य सचिव ने आदेश जारी कर दिया है। इसके बाद से ही जिलों में डीएम-एसपी को लगा दिया गया है। पार्कों को बंद कराने को लेकर संबंधित विभाग को निर्देश दे दिया गया। वन विभाग इस पर आदेश पार्कों के प्रभारियों को जारी कर रहा है। नए साल के स्वागत में प्रशासन के लिए कोरोना की बड़ी चुनौती है। इसके लिए सरकार काफी सख्त मूड में है।

पुलिस और प्रशासनिक अफसरों को निर्देश दिया गया कि कहीं भी कोरोना की गाइडलाइन तोड़कर मनमानी की जा रही है तो संबंधित लोगों के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की जाए। मौजूदा समय में नए साल के स्वागत को लेकर जिलों में सख्ती की तैयारी की जा रही है।

खबरें और भी हैं...