• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Patients Increased 110 Times In A Fortnight, Second To Third Wave 64% Faster, This Time 9447 Cases In 15 Days

बिहार में तीसरी लहर कितनी तेज:एक पखवाड़े में 110 गुना बढ़े मरीज, दूसरी से तीसरी लहर 64% तेज 15 दिनों में इस बार 9447 केस

पटना14 दिन पहलेलेखक: गिरजेश कुमार
  • कॉपी लिंक
दूसरी लहर के पहले 15 दिनों में राज्य में मिले थे 5743 संक्रमित मरीज - Dainik Bhaskar
दूसरी लहर के पहले 15 दिनों में राज्य में मिले थे 5743 संक्रमित मरीज

कोरोना की दूसरी लहर से तीसरी लहर कहीं ज्यादा तेज है। मार्च 2021 के आखिरी हफ्ते में दूसरी लहर शुरू हुई थी, तब पहले 15 दिनों में 5743 नए संक्रमित मरीज मिले थे। इस बार तीसरी लहर के पहले 15 दिनों में 9447 नए संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। कोरोना की पहली लहर में पहले 15 दिनों 27 नए संक्रमित मरीज मिले थे। कोरोना की दूसरी लहर में 22 मार्च से केसेस बढ़ने शुरू हुए थे।

तीसरी लहर के दौरान 24 दिसंबर, 2021 से 7 जनवरी, 2022 के बीच 9447 नये संक्रमितों की पहचान हो चुकी है। सक्रिय मरीजों की संख्या 110 गुना बढ़ी है। 24 दिसंबर को राज्य में 78 मरीज थे, जो 7 जनवरी को बढ़कर 8489 हो गए हैं। हालांकि मौतों की संख्या इस बार कम है, दूसरी लहर के पहले पखवारे में 20 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी।

इस बार अबतक 2 लोगों की मौत दर्ज हुई है। एम्स पटना के डीन डॉ. उमेश भदानी ने कहा कि संक्रमण दर इस बार काफी ज्यादा है लेकिन गंभीर नहीं है। लोग बीमार पड़ रहे हैं, पर 3-4 दिनों में ठीक हो रहे हैं। कई डॉक्टर व स्वास्थ्यकर्मी बीमार हैं। लक्षणों के आधार पर यह कहा जा सकता है कि यह कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन ही है। कम्युनिटी स्प्रेड है, क्योंकि अस्पतालों में अभी बहुत ज्यादा लोग भर्ती नहीं हैं। प्रतिबंध जरूरी है, सावधानी बरतनी चाहिए।

पटना में संक्रमण दर 12.98%, यानि महामारी अनियंत्रित
पटना में कोरोना संक्रमण दर 12.98 % के आंकड़े पर पहुंच गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार 31 दिसंबर से 6 जनवरी के बीते सप्ताह में पटना का संक्रमण दर 12.98 प्रतिशत रहा। पटना अब देश के उन 59 जिलों में शामिल हो गया है जहां पॉजिटिविटी रेट 10 प्रतिशत से अधिक है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार यदि संक्रमण दर 5 प्रतिशत से अधिक हो तो महामारी अनियंत्रित मानी जाती है। पटना में बीते सप्ताह 44 प्रतिशत रैपिड एंटीजन और 56% आरटीपीसीआर जांच हुई है। पटना में बीते 24 घंटे में संक्रमण दर 15 % से अधिक रहा है। जिले में 8737 सैंपल की जांच की गई थी जिसमें 1314 संक्रमित मिले हैं।

सूबे के हर जिले में तेजी से बढ़ रहा है संक्रमण
सूबे के हर जिले में तेजी से बढ़ रहा है संक्रमण

बिहार में 3048 नए केस मिले, एक दिन में 28 फीसदी का इजाफा
बिहार में शुक्रवार को 3048 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। पिछले 24 घंटे में राज्य में 28 प्रतिशत संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ी है। गुरुवार को 2379 नए संक्रमित मरीज मिले थे। राज्य में सबसे अधिक 1314 संक्रमित पटना में मिले हैं। दूसरे स्थान पर गया है जहां 293 नए संक्रमित मरीज मिले हैं। बिहार में इससे पहले 25 मई को 3306 नए कोरोना मरीज मिले थे।

विस में कोरोना का कहर, 16 तक बंद मंत्री शाहनवाज व सहनी भी पॉजिटिव
विधानसभा में 35 से अधिक लोगों के कोरोना संक्रमित होने की खबर के बाद उसे 16 जनवरी तक बंद कर दिया गया है। वहीं विधानपरिषद में सोमवार को बंद को लेकर निर्णय लिया जाएगा। शुक्रवार को मंत्री शाहनवाज हुसैन और मुकेश सहनी भी पॉजिटिव हो गए हैं। इसके बाद संक्रमित मंत्रियों की संख्या बढ़कर 8 हो गई है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदनमोहन झा भी संक्रमित हो गए हैं।

कोरोना मृतकों के परिजनों का लंबित भुगतान 10 तक करने का निर्देश
आपदा प्रबंधन विभाग ने सभी डीएम को पत्र लिख कहा है कि कोरोना मृतकों के परिजनों का लंबित भुगतान 10 जनवरी तक हर हाल में करें। विभाग ने डीएम से लंबित भुगतान की विस्तृत रिपोर्ट भी मांगी है। सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका का हवाला देते हुए कहा है कि कोविड-19 से मृत व्यक्तियों के आश्रितों को अनुग्रह अनुदान का भुगतान एक सप्ताह में सुनिश्चित करना है। पत्र में कहा गया है कि 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में बिहार सरकार की ओर से रिपोर्ट देनी है लिहाजा लंबित भुगतान यथाशीघ्र सुनिश्चित करें।

खबरें और भी हैं...