अब तेजी से हाेगा काम:पटना मेट्रो को जनवरी में मिलेगी डिपो निर्माण के लिए 76.645 एकड़ जमीन

पटना10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 23 दिसंबर तक किसानों से दावा-आपत्ति लेगा जिला प्रशासन

पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन को जनवरी में डिपो के लिए जमीन मिलेगी। जिला प्रशासन ने जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी है। 23 दिसंबर तक किसानों से दावा-आपत्ति लिया जाएगा। इस पर सुनवाई के बाद 15 दिन में दर तय करने और कागजात तैयार करने की प्रक्रिया होगी। इसके बाद किसानों को बैंक अकाउंट के माध्यम से मुआवजे का भुगतान शुरू होगा। पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन को जनवरी में जमीन पर दखल-कब्जा दिलाया जाएगा।

सरकार द्वारा आईएसबीटी के सामने मेट्रो का डिपो बनाने के लिए 76.645 एकड़ जमीन के अधिग्रहण का नोटिफिकेशन जारी किया गया है। वर्तमान में आईएसबीटी से मलाही पकड़ी के बीच 6.60 किमी एलिवेटेड मेट्रो के निर्माण का काम चल रहा है। यूटिलिटी शिफ्टिंग के बाद एलिवेटेड मेट्रो स्टेशन के निर्माण व एलिवेटेड लाइन (वाया डक्ट) के लिए पायलिंग का निर्माण तेजी कार्य चल रहा है। पटना मेट्रो रेल प्रोजेक्ट की कुल लागत 13,366 करोड़ है। इससे 32.487 किमी लंबाई में दो कॉरिडोर का निर्माण करना है। पहला कॉरिडोर दानापुर से मीठापुर 17.93 किमी और दूसरा कॉरिडोर पटना रेलवे स्टेशन से आईएसबीटी तक 14.55 किमी है। इसको अक्टूबर 2024 में चालू करने का लक्ष्य है।

रूकनपुरा से राजेंद्रनगर के बीच अंडरग्राउंड कार्य

पटना मेट्रो और जायका के बीच 5520.93 करोड़ ऋण के लिए के लिए का समझौता हुआ है। जायका से राशि मिलने के बाद रूकनपुरा से लेकर राजेंद्र नगर तक अंडरग्राउंड मेट्रो का निर्माण कार्य शुरू होगा। इसमें कॉरिडोर वन का रूकनपुरा, राजाबाजार, पटना जू, विकास भवन, विद्युत भवन, पटना जंक्शन और कॉरिडोर टू का पटना जंक्शन, अकाशवाणी, गांधी मैदान, पीएमसीएच, पटना विवि, मोइनुलहक स्टेडियम, राजेंद्र नगर स्थित अंडरग्राउंड स्टेशन और लाइन बनाना शामिल है।

केंद्र और राज्य सरकार के फंड से बनेंगे 11 एलिवेटेड स्टेशन

केंद्र और राज्य सरकार के फंड से 11 एलिवेटेड स्टेशन के साथ लाइन बनाना है। इसमें कॉरिडोर वन का दानापुर, सगुना मोड, आरपीएस मोड, पटलिपुत्र, मीठापुर, रामकृष्णा नगर, जगनपुर, खेमनीचक और कॉरिडोर टू का मलाही पकड़ी, खेमनीचक, भूतनाथ, जीरो माइल, न्यू आर्इएसबीटी एलिवेटेड स्टेशन शामिल है।

खबरें और भी हैं...