पटना में एक और मर्डर:दोस्त की मां के दाह संस्कार में गए अलाउद्दीन की गुलबी घाट पर हत्या, अपराधियों ने सिर में मारी गोली

पटनाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अलाउद्दीन की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
अलाउद्दीन की फाइल फोटो।
  • PMCH कैंपस में रहता था एक्टिव, एम्बुलेंस चलाने और चलवाने का करता था काम
  • रंगदारी, आर्म्स एक्ट, हत्या और लूट की कोशिश के 4 आपराधिक मामले थे दर्ज

इंडिगो के स्टेशन हेड रूपेश सिंह की हत्या की गुत्थी अभी पुलिस सुलझा भी नहीं पाई है कि पटना में दिनदहाडे़ एक और हत्या हो गई है। अपराधियों ने एम्बुलेंस मालिक अलाउद्दीन उर्फ बिकाउ को गोली मार दी। वह भी सिर में। इस कारण मौके पर ही उसकी मौत हो गई। हत्या का यह मामला सुल्तानगंज थाना के तहत गुलबी घाट का है। अलाउद्दीन अपने एक परिचित राहुल की मां के दाह संस्कार में शामिल होने गया था। उसी क्रम में एक स्कूटी से दो अपराधी आए। घाट के नजदीक खड़े अलाउद्दीन के पास गए और उसके सिर में गोली मारकर आसानी से फरार हो गए। जब तक आसपास में मौजूद लोग कुछ समझ पाते तब तक स्कूटी स्टार्ट कर अपराधी बड़ी तेजी से निकल गए। अपराधी का हुलिया भी वारदात स्थल के पास मौजूद लोग सही से देख नहीं पाए।

गुलबी घाट पर युवक की हत्या के बाद रोड पर बिखरा खून।
गुलबी घाट पर युवक की हत्या के बाद रोड पर बिखरा खून।

PMCH कैंपस में एक्टिव रहता था अलाउद्दीन
40 साल का अलाउद्दीन पिछले कई वर्षों से PMCH कैंपस में एक्टिव रहता था। वह खुद प्राइवेट एम्बुलेंस चलाता था और कई गाड़ियों को चलवाता भी था। कैम्पस के ही एक क्वार्टर में अपने परिवार के साथ रह भी रहा था। कैंपस में इसकी छवि दबंगों वाली थी। पटना नगर निगम के चुनाव में एक बार खुद की दावेदारी भी पेश कर चुका है। इसकी हत्या क्यों और किसने कराई? अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है।

दर्ज हैं कई आपराधिक मामले
हत्या की जानकारी मिलने के बाद सुल्तानगंज थाना की पुलिस टीम गुलबी घाट पहुंची। मामले की जांच की। वारदात स्थल के आसपास CCTV कैमरा लगा है या नहीं, पुलिस टीम उसकी तलाश में जुटी है। अगर कोई कैमरा मिला और उसमें अपराधियों के फुटेज कैद हुए तो पुलिस को काफी सहूलियत होगी। अपराधियों की पहचान कर गिरफ्तारी करने में आसानी होगी। दूसरी तरफ पटना के सिटी एसपी ईस्ट जितेंद्र कुमार के अनुसार अलाउद्दीन के ऊपर कई आपराधिक केस दर्ज हैं। इनमें 4 मामले पीरबहोर थाने में दर्ज हैं, जिनमें रंगदारी, आर्म्स एक्ट, हत्या की कोशिश और लूट की कोशिश के मामले हैं। इसकी कई लोगों से दुश्मनी भी थी।

अंतिम संस्कार के दौरान एक साल पहले भी हुई थी हत्या
यह दूसरा मौका है जब पटना में श्मशान घाट पर हत्या की दूसरी वारदात को अपराधियों ने अंजाम दिया। अलाउद्दीन की हत्या जिस गुलबी घाट पर हुई वहां लाशों को जलाया जाता है। इस तरह की पहली वारदात 2019 के नवंबर महीने में पटना सिटी के खांजेकला घाट पर हुई थी। उस वक्त अपराधियों ने दोस्त के अंतिम संस्कार में शामिल होने आए राहुल जैकर उर्फ सूरज की गोली मारकर हत्या कर दी थी। अपराधियों ने उसे गोलियों से भून दिया था। वारदात स्थल से पुलिस ने कुल 9 खोखा बरामद किया था। इस वारदात ने भी पूरे पटना में हड़कंप मचा दिया था।

खबरें और भी हैं...