पटना में दुर्गा प्रतिमा बनाने में कला का अनोखा प्रदर्शन:आर्ट कॉलेज के स्टूडेंट्स ने धनिया के दानों से बना दी पूरी प्रतिमा, 2 महीने का लगा वक्त

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बनाने में खड़े धनिया के इस्तेमाल से ये मूर्ति बेहद खास हो गई है। - Dainik Bhaskar
बनाने में खड़े धनिया के इस्तेमाल से ये मूर्ति बेहद खास हो गई है।

देश भर में दुर्गा पूजा की धूम है। श्रद्धालु पूरी आस्था से मां की आराधना करने में लीन हैं। राजधानी पटना में भी तरह-तरह के पंडाल और मूर्ति तैयार किए गए हैं। कही भव्य सज्जा दिख रही है तो कहीं कला का अनूठा रंग देखने का मिल रहा है। पटना में धनिया से कुछ कलाकारों ने मां की प्रतिमा तैयार की है, जिसे देखने के लिए भक्तों की भीड़ लग रही है।

बुद्धा कॉलोनी में धनिया से बनाई मां की मूर्ति

पटना के बुद्धा कॉलोनी में काठपुल मंदिरी के पास स्थित दुर्गा पूजा पंडाल में लगी मां की मूर्ति कलाकारों की खास कोशिश से अनूठी हो गई है। इस मूर्ति को कलाकारो ने खड़े धनिया से तैयार किया है। सिर्फ मां दुर्गा की मूर्ति ही नहीं, बल्कि भगवान गणेश, माता लक्ष्मी के साथ ही पंडाल में लगी हर मूर्ति धनिया से बनी है। कलाकारों ने मूर्ति को बनाने में खड़े धनिया का दाना इस्तेमाल किया है, जिससे ये मूर्ति बेहद खास हो गई है। पूजा समिति के मुताबिक इस मूर्ति को तैयार करने में कलाकारों को 2 महीने का वक्त लगा है। इसे बनानेवाले कलाकार पटना के आर्ट कॉलेज के स्टूडेंट हैं।

पंडाल को दिया हिमालय का स्वरूप, बैठे हैं भगवान शिव

शहर के कंकडबाग इलाके के हनुमान नगर में करीब 50 फीट उंचा भव्य पंडाल बनाया गया है। इस पंडाल को पर्वतराज हिमालय का स्वरूप देने की कोशिश कलाकारों ने की है। पंडाल के ऊपर हाथी पर भगवान शिव विराजमान हैं। यही नहीं, इसकी चोटी से गंगा निकलती हुई दिखाई गई। रंग-बिरंगे लाइटिंग के बीच हिमालय रूपी से इस पंडाल को देखने खूब भीड़ जुट रही है।

खबरें और भी हैं...