शराब खोज अभियान पर BJP की बिहार पुलिस को नसीहत:संजय जायसवाल ने कहा- महिलाओं के मामले में महिला पुलिस ही करे जांच

पटना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शादी वाली जगह पर जाकर दुल्हन के कमरे में शराब ढूंढ़ना, पटना पुलिस की यह कार्यशौली सरकार में शामिल भाजपा को भी रास नहीं आई। तीन दिनों के बाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने भी पुलिस के इस तरह से काम करने पर सवाल खड़ा कर दिया है। बुधवार को पार्टी कार्यालय में हुए प्रदेश कार्यसमिति की मीटिंग के बाद वो मीडिया से मुखातिब हुए थे। उन्होंने महिलाओं के कमरे में पुरुष पुलिस वालों के जाने पर आपत्ति जताई।

शराबबंदी पर डॉ संजय जायसवाल ने कहा कि सड़क पर गाड़ी रोक कर जांच करना और पुलिस का सब जगह जाकर जांच करना यह सही है। अगर शराबबंदी करनी है तो इसे लागू करना ही होगा। पर अगर कहीं भी महिलाओं का मामला होता है तो हर हालत में महिला पुलिस को ही उसकी जांच करनी चाहिए। जो शराब पिएगा, वो फंसेगा। शराब पीने की प्रवृति है तो उस पर लगाम लगाना ही होगा। इतने अच्छे शराबबंदी कानून के बाद भी यह मामला रूक नहीं रहा है, तो इस पर गंभीरता से विचार करना पडे़गा।

सोमवार को सामने आया था पटना पुलिस का वीडियो

दरअसल, बीते सोमवार को रामकृष्णा नगर थाना इलाके का एक वीडियो सामने आया था। इसमें थानेदार जहांगीर आलम एक कम्यूनिटी हॉल में तलाशी लेते दिख रहे थे। तलाशी के दौरान वो दुल्हन के कमरे में घुस गए। अंदर जाकर कमरे की तलाशी ली। आरोप लगा कि इस दौरान उनके साथ महिला पुलिस नहीं थी। यहां क्लिक कर देखें, दुल्हन के कमरे में शराब खोज रही पटना पुलिस का VIDEO

खल गया जदयू का सेलिब्रेशन
15 साल बेमिसाल के नाम पर जदयू ने पटना में बुधवार को अकेले-अकेले सेलिब्रेशन कर लिया। इसमें सरकार में शामिल न तो भाजपा को पूछा गया और न ही NDA में शामिल दूसरे घटक दलों को। यह बात भाजपा को भी खल गई। इस बारे में प्रदेश अध्यक्ष से सवाल पूछा गया। इस पर जायसवाल ने कहा कि सरकार चलाने में भाजपा और NDA के सभी घटक दल शामिल हैं। 15 साल बेमिसाल में सभी दलों का बेहतरीन साथ रहा है।

मीटिंग में कांग्रेस पर कटाक्ष
कार्यसमिति की मीटिंग में प्रदेश अध्यक्ष ने एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके सरकार के कामों की तारीफ की तो दूसरी तरफ कांग्रेस के ऊपर बड़ा कटाक्ष किया। कहा कि कांग्रेस ने 70 वर्ष तक गरीबी हटाओ के नारे पर राज किया। उनकी चार पीढ़ियां गरीब मिटाने के नाम पर प्रधानमंत्री बन गई। लेकिन, गरीबी नहीं मिटी। हम 2022 तक प्रत्येक व्यक्ति को अपना घर, शौचालय, बिजली देने का काम कर रहे हैं। हम कभी रक्षा उत्पादों के सबसे बड़े आयातक थें, लेकिन अब रक्षा क्षेत्र में निर्यातक देशों की सूची में आ चुके हैं। आज हम दुनिया में तीसरे सबसे बड़े आर्थिक विश्व शक्ति बनने की ओर अग्रसर हैं।

खबरें और भी हैं...