पटना के शिक्षक की फोरलेन पर हत्या:बाइक से जा रहे शिक्षक को गोली मार भागे बदमाश, आगे स्कूटी पर पत्नी-बेटी भी थी, पास में 4 लाख रुपए भी थे

पटना2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
घटनास्थल पर मृतक की पत्नी और बेटी। - Dainik Bhaskar
घटनास्थल पर मृतक की पत्नी और बेटी।

पटना के महेंद्रू के एक सरकारी स्कूल में कार्यरत शिक्षक अमरेन्द्र कुमार की फतुहा में फोरलेन पर हत्या कर दी गई। शुक्रवार सुबह हुई घटना के वक्त अमरेंद्र कुमार अपनी बाइक से जा रहे थे। उनके आगे स्कूटी पर पत्नी व बेटी भी थी। इसी बीच पीछे से आए अपाची बाइक सवार बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी। गोली लगते ही वह बीच सड़क पर गिर पड़े और दम तोड़ दिया। आगे स्कूटी पर जा रही पत्नी और बेटी जबतक कुछ समझते तब तक बदमाश फरार हो गए थे। वारदात के वक्त शिक्षक दम्पति के पास चार लाख रुपए भी थे, लेकिन उसकी लूट नहीं हुई। एक जमीन खरीद के सिलसिले में यह रुपए देने सभी लोग दनियावां जा रहे थे। घटना की जानकारी मिलने पर ग्रामीण एसपी कांकांतेय कुमार मिश्र मौके पर पहुंचे तथा छानबीन की। पुलिस ने पूछताछ के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए NMCH भेज दिया।

पुलिस को संदेहास्पद लग रहा मामला, कॉल डिटेल की छानबीन जारी

इस मामले पर पुलिस आधिकारिक तौर पर कुछ भी बताने से इंकार कर रही है। हालांकि मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को मृतक के मोबाइल से कुछ संदिग्ध नंबर मिले हैं। कॉल डिटेल निकाल कर इनकी छानबीन की जा रही है। घटना के कारणों पर परिवार भी स्पष्ट तौर पर कुछ बता नहीं पा रहा है। मृतक के भाई चन्द्रशेखर प्रसाद ने घर व जमीन को लेकर किसी आपसी विवाद से इंकार किया है। पत्नी प्रतिमा देवी ने दो अज्ञात बाइक सवार बदमाशों के खिलाफ बयान दर्ज कराया है। डीएसपी राजेश कुमार मांझी ने बताया कि मामले में जल्द ही हत्या के मोटिव का खुलासा कर दिया जाएगा।

मूल रूप से नालंदा निवासी अमरेंद्र ने खरीदी थी 55 लाख की जमीन

अमरेंद्र कुमार महेंद्रू स्थित गौतम बुद्थ मध्य विद्यालय में शिक्षक के पद पर तैनात थे। उनकी पत्नी प्रतिमा देवी वकील हैं। उन्होंने बताया कि वे लोग मूल रुप से नालंदा जिले के कराय परशुराय थाना क्षेत्र के गुलेरिया बिगहा गांव के रहने वाले थे। परिवार में उन दोनों के अलावा 19 वर्षीया पुत्री अरमा है। वे पटना के राम कृष्णा नगर थाना क्षेत्र के जकरियापुर में रहते हैं। अमरेंद्र ने दनियावां में 55 लाख रुपए में एक जमीन का सौदा किया था। 51 लाख रुपए भुगतान कर दिए थे तथा शेष चार लाख रुपये देने के लिए दनियावां जा रहे थे। शुक्रवार सुबह साढ़े छह बजे ही सभी घर से निकले थे। अमरेंद्र कुमार के पास दो लाख रुपए तथा पत्नी के पास दो लाख रुपए थे। पत्नी व बेटी एक स्कूटी पर तथा अमरेंद्र दूसरे बाइक पर थे। दोनो गाड़ी आगे-पीछे साथ-साथ चल रही थी। दीदारगंज पार करने के बाद पत्नी व बेटी स्कूटी से आगे हो गए तथा डेढ़ सौ गज की दूरी पर पीछे अमरेंद्र की बाइक थी।

घटनास्थल के आसपास के लोगों ने बताया कि उजले रंग की अपाची बाइक पर सवार दो बदमाश अमरेंद्र के समीप गए तथा उन्हें गोली मार दी। गोली लगते ही अमरेंद्र बाइक से गिर पड़े। उधर बदमाश फतुहा की ओर फरार हो गए। पत्नी की मानें तो वे गोली लगते ही हमलोगों को रुकने के लिए आवाज दी। जब स्कूटी रोककर पीछे देखा तो वे सड़क पर गिरे पड़े थे। पुलिस ने फिलहाल दोनों के पास से बरामद रुपयों को जब्त कर लिया है।

खबरें और भी हैं...