बाकरगंज पहुंचे नेता, सर्राफा कारोबारी पहुंचे DM ऑफिस:DM-SSP से मीटिंग में बोले- पटना अब सेफ नहीं, अपराधियों का UP की तर्ज पर हो एनकाउंटर

पटना10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
125 से भी अधिक कारोबारियों ने डीएम ऑफिस पहुंच अपनी बातें कही। - Dainik Bhaskar
125 से भी अधिक कारोबारियों ने डीएम ऑफिस पहुंच अपनी बातें कही।

'कारोबार करने के लिए पटना अब सेफ नहीं है। पटना में कारोबारी सुरक्षित नहीं हैं। हमलोग अब यहां कारोबार नहीं कर पाएंगे। हमारे मन से अगर अपराधियों का खौफ खत्म करना है तो इसके लिए उत्तर प्रदेश की तर्ज पर अपराधियों का खात्मा करना होगा। पुलिस को उनका एनकाउंट करना होगा। वरना, हम पटना में कारोबार नहीं कर सकते।' शनिवार को पटना के सर्राफा कारोबारियों ने DM डॉक्टर चन्द्रशेख सिंह और SSP मानवजीत सिंह ढिल्लो के सामने यह बातें कहीं।

दरअसल, शुक्रवार को बाकरगंज में SS ज्वेलर्स में हुए 14 करोड़ से अधिक के सोना और 14 लाख रुपए की डकैती की वजह से पटना के सर्राफा कारोबारियों में पुलिस-प्रशासन के खिलाफ काफी गुस्सा है। इस डकैती के विरोध में पूरे दिन सर्राफा कारोबारियों ने अपनी दुकानों को बंद रखा। बाकरगंज से पैदल मार्च करते हुए और सरकार, पुलिस-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए फ्रेजर रोड के पास स्थित डीएम ऑफिस पहुंचे। इसमें करीब 125 से भी अधिक कारोबारी शामिल थे।

DM-SSP के सामने भी कारोबारी काफी गुस्से में थे। अरूण कुमार नाम के कारोबारी ने अल्टीमेटम देते हुए कहा कि पटना में हम लोगों से कारोबार अब नहीं हो पाएगा। दिन-दहाड़े डकैती करके अपराधियों ने पुलिस-प्रशासन को चैलेंज किया है। कम से कम 100 दुकानों में लगे CCTV का फुटेज आ गया है। 24 घंटे में अगर आप लोग लूटा हुआ सोना और कैश बरामद नहीं कर पाए, तो समझा जाएगा कि इसमें पुलिस-प्रशासन की मिलीभगत है।

कारोबारियों ने DM-SSP से किए सीधे सवाल।
कारोबारियों ने DM-SSP से किए सीधे सवाल।

पुलिस के 45 मिनट देर से आने पर उठाए सवाल

मौके पर दूसरे कारोबारियों ने अधिकारियों से सवाल पूछा कि डकैती के 45 मिनट बाद कदमकुआं थाना की पुलिस क्यों आई? जबकि, काफी देर से कॉल किया जा रहा था। थानेदार हों या पटना पुलिस के बड़े अफसर किसी ने तुरंत रिस्पांस नहीं दिया। इस व्यवस्था में कारोबारी खुद को कैसे सुरक्षित मानेंगे?

अगर आपको पिस्टल सटा दें अपराधी तो...
एक कारोबारी ने सीधे DM-SSP से कहा कि जब अपराधी हम पर पिस्टल तान देता है तो उस वक्त जो महसूस होता है, वो हमलोग ही जानते हैं। अगर वही अपराधी आप लोगों को पिस्टल सटा देगा तो आपलोगों का बॉडीगार्ड गोली चला देगा। अपराधी का सीना गोलियों से छलनी कर देगा। मगर, हमलोग क्या करेंगे? जब अपराधी गिरफ्तार होकर जेल जाता है तो वहीं से कॉल कर धमकाता है। कहता है कि तुमने मेरा नाम दिया, बताते हैं। ऐसे अपराधियों का एनकाउंटर होना जरूरी है। साथ ही खुद की सुरक्षा के लिए कारोबारियों को स्पेशल ट्रेनिंग के साथ-साथ आर्म्स लाइसेंस भी मिलना चाहिए।

बाकरगंज इलाके में दिन भर बनी रही गहमागहमी।
बाकरगंज इलाके में दिन भर बनी रही गहमागहमी।

DM ने कहा-देर से आने की होगी हाईलेवल जांच
कारोबारियों के साथ करीब दो घंटे से भी अधिक देरी तक DM-SSP की मीटिंग चली। इसके बाद DM ने कहा कि वारदात के बाद 45 मिनट लेट से पुलिस का आना कहीं से भी सही नहीं है। इस मामले की हाईलेवल इंक्वायरी होगी। इसमें जो भी दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। जल्द ही हर इलाके में पुलिस की पेट्रोलिंग को ठीक किया जाएगा। पहले की पैंथर मोबाइल की तरह बाइक से पुलिस पेट्रोलिंग की जाएगी। प्रत्येक थाना में पुलिस और कारोबारी की मीटिंग हर महीने में एक दिन की जाएगी। इस पर सहमति बन गई है।

DM ने कहा कि बाकरगंज का इलाका वर्तमान में कदमकुआं थाना में आता है। जबकि, ये गांधी मैदान थाना के नजदीक है। क्षेत्र की शिफ्टिंग को लेकर भी उच्च स्तर पर मीटिंग होगी। पुलिस लूटे गए सोना व कैश की रिकवरी पर फोकस कर रही है। पुलिस की जांच सही दिशा में है। इस प्रकार की घटनाएं न हो, इसके लिए प्रयास किया जाएगा।

बाकरगंज पहुंचे राजद विधायक रणविजय साहू और पटना की मेयर सीता साहू।
बाकरगंज पहुंचे राजद विधायक रणविजय साहू और पटना की मेयर सीता साहू।

बाकरगंज पहुंचे RJD MLA और पटना की मेयर

इधर आज बाकरगंज इलाके में दिन भर गहमागहमी बनी रही। दुकानें तो बंद रही, लेकिन इलाके में भीड़ हर दिन की तरह दिखी। दोपहर बाद SS ज्वेलर्स के पास राजद विधायक व व्यावसायिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष रणविजय साहू पहुंचे। उन्होंने पुलिस-प्रशासन पर सवाल उठाते हुए कहा कि थाना के बगल में इतनी बड़ी घटना हो गई लेकिन डकैती के बाद पुलिस पहुंची। पुलिस को तो दूसरे कामों (शराबबंदी से संबंधित) में लगा दिया गया है।

वहीं पटना की मेयर सीता साहू भी बाकरगंज पहुंची। उन्होंने पुलिस का बचाव करते हुए कहा कि वो अपना काम कर रहे हैं। यह इलाका काफी भीड़भाड़ वाला है। पुलिस के आने में वक्त लग सकता है।

खबरें और भी हैं...