पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Patna News; Three Villages Of Phulwari Sharif Mourn Deaths Of Four Friends In Dhanbad Ranchi Highway Car Accident

फुलवारी शरीफ के तीन गांवों में मातम का माहौल:झारखंड के रामगढ़ कार हादसे में एक गांव के 2 दोस्त जिंदा जले; दोनों अपने पीछे छोड़ गए छोटे-छोटे बच्चे

पटना8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
राज किशोर राय एवं मुन्ना राय की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
राज किशोर राय एवं मुन्ना राय की फाइल फोटो।

झारखंड के रामगढ़ में धनबाद-रांची हाईवे पर हुए हादसे में जिंदा जले फुलवारी शरीफ के चारों युवकों के गांव में बुधवार को चूल्हे नहीं जले। गांव के लोगों ने बताया कि फुलवारी शरीफ बोचाचक से आलोक कुमार की वैगन-आर कार से ब्रह्मपुर से राज किशोर राय एवं मुन्ना राय और रानीपुर से गोलू कुमार मंगलवार की दोपहर रजरप्पा मंदिर के लिए निकले थे। इस बीच धनबाद सड़क हादसे की सूचना बुधवार की सुबह इनके घरों पर पहुंची। सूचना मिलते ही फुलवारी शरीफ के बोचाचक, रानीपुर और ब्रह्मपुर गांवों में मातमी सन्नाटा छा गया।

गांव के दो लोगों की मौत से गमगीन है ब्रह्मपुर
ब्रह्मपुर के 35 वर्षीय राज किशोर राय फुलवारी शरीफ के आसपास जमीन का कारोबार करते थे। पिता की मौत की खबर सुनकर राज किशोर राय के दोनों बेटे सुमित कुमार (10 वर्ष) और साहिल कुमार (8 वर्ष) पूरी तरह टूट गए। अबोध बच्चों को यह समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर ऐसा कैसे हो गया। राज किशोर राय के भाई विकास कुमार ने बताया कि मंगलवार को जब रजरप्पा के लिए निकले थे, तो सब बहुत खुश थे।

दूसरी तरफ मुन्ना राय के साला ने बताया कि उनकी दो बेटी चुलबुली (10 वर्ष), स्नेहा कुमारी (8 वर्ष), जबकि दो बेटे रवि शंकर (5 वर्ष) और गौरी शंकर (2 वर्ष) बार-बार पिता को याद करके बेहोश हो जा रहे हैं। चारों तरफ चीख-पुकार से पूरा गांव गम के माहौल में डूबा है। गांव के लोगों ने बताया कि मुन्ना राय प्राइवेट गाड़ी के ड्राइवर था। अपनी छोटी कमाई से ही मुन्ना राय अपने और अपने परिवार का भरण-पोषण करते था। परिवार को संभालने वाला अब कोई नहीं है। घटना की सूचना मिलते ही परिवार के लोग बुधवार को ही घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं।

खबरें और भी हैं...