जब पसीजा सुपारी किलर का दिल:पटना में प्रॉपर्टी डीलर ने प्रेमिका के पति की सुपारी दी, गरीब देख छोड़ा.. आगे की कहानी चौंका देगी

पटना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पटना में शादीशुदा जिंदगी का अफेयर, सुपारी और फिर सुपारी देने वाले के मर्डर की कहानी आपको चौंका देगी। पटना के प्राॅपर्टी डीलर विक्की पासवान अपहरण और हत्या मामले में पुलिस ने खुलासा कर दिया है। विक्की पासवान ने अपनी प्रेमिका के पति की हत्या के लिए जिस सुपारी किलर को डेढ़ लाख रुपए दिए थे, उसी ने धोखा दे दिया। पढ़िए पूरी उलझी कहानी... आखिरकार क्यों प्रेमिका के पति को नहीं मारा और सुपारी देने वाले की ले ली जान।

टारगेट को देखा तो पसीज गया किलर का दिल
बुधवार को फुलवारीशरीफ के एएसपी मनीष कुमार ने बताया कि विक्की ने प्रेमिका के पति की हत्या की सुपारी दी थी। जब किलर उसे मारने पहुंचा तो उसे देखकर उसका दिल पसीज गया। उसने देखा कि वो एक गरीब आदमी है और मजदूरी करता है। इसके बाद उसने अपना फैसला बदल दिया और वहां से बिना अपना काम किए लौट आया। इसके बाद किलर विक्की को टालमटोल करने लगा। विक्की भी सुपारी किलर पर काम पूरा करने का दबाव बनाने लगा।

अब पार्टनर ने उसी किलर को दी विक्की की हत्या की सुपारी
इसी बीच विक्की और बतौड़ा निवासी रवि को प्रॉपर्टी डीलिंग में 40 लाख रुपए का मुनाफा हुआ। सारे रुपए विक्की के पास थे। उन रुपयों के लिए रवि ने उसी किलर को पांच लाख रुपए देकर विक्की की हत्या की सुपारी दे दी। शूटर ने इस बार मुजफ्फरपुर से चोरी की फॉर्च्यूनर गाड़ी ली और विक्की के दोस्त मंतोष कुमार को विश्वास में लिया। मंतोष वही शख्स था, जिसने पहले प्रेमिका के पति की हत्या के लिए विक्की की पहचान सुपारी किलर से कराई थी।

सुपारी किलर ने जमीन को लेकर बातचीत का कहकर विक्की को बुलाया। और गाड़ी में बैठाकर छपरा के रास्ते मोतिहारी ले गया। फिर मोतिहारी के पिपरा थाना क्षेत्र में रस्सी से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी।

सुपारी किलर समेत 13 गिरफ्तार
एएसपी मनीष कुमार ने बताया कि शूटर 29 अप्रैल 2022 को विक्की को एक फॉर्च्यूनर गाड़ी में बैठाकर छपरा होते हुए मोतिहारी ले गए थे। उसकी बाइक दरियापुर थाना क्षेत्र में लावारिस हालत में छोड़ दी और मोतिहारी के पिपरा थाना क्षेत्र में फॉर्च्यूनर गाड़ी में ही गले में रस्सी लगाकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद शव को फेंक दिया। विक्की के बड़े भाई रोहित ने 30 अप्रैल को बेउर थाने में उसकी गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया था। फिर 2 दिन बाद ही विक्की का शव बरामद किया गया। पुलिस ने मामले में सबसे पहले मंतोष को गिरफ्तार किया। इसके बाद मामले की परतें खुलती चली गईं।

पुलिस ने इस घटना में शामिल कुख्यात सुपारी किलर रामाशीष उर्फ शूटर बाबा, पार्टनर रवि कुमार, मोतिहारी के मो. रूस्तम, ट्रांसपोर्ट नगर के विपुल कुमार, पटना सिटी के राहुल कुमार, बेउर के सुधीर कुमार, ओम प्रकाश कुमार, देव कुमार, गर्दनीबाग के जितेंद्र कुमार, मुन्ना कुमार औऱ खेमनीचक के राहुल कुमार समेत 13 लोगों को अरेस्ट कर लिया है।

इन लोगों के पास से हत्या की साजिश में शामिल मोबाइल, फोर व्हीलर और मृतक की बाइक बरामद की गई है। इसके अलावा 9 सिम कार्ड और कई मोबाइल भी बरामद किए गए हैं।

विवाहिता महिला से प्रेम प्रसंग में गई विक्की की जान
विक्की बेउर के विद्यानगर में किराए के मकान में परिवार के साथ रहता था। उसका आशियाना नगर में एक विवाहिता महिला से प्रेम प्रसंग था, जिसका विरोध महिला का पति संतोष कुमार करता था। इसको लेकर दोनों में मारपीट हुई भी हुई थी। इसके बाद विक्की ने अपनी प्रेमिका के पति संतोष कुमार की हत्या की योजना बनानी शुरू की। इसके लिए उसने अपने साथी मंतोष कुमार का सहारा लिया था। मंतोष कुमार ने ही अपने गांव के कुख्यात सुपारी किलर रामाशीष कुमार उर्फ शूटर बाबा से विक्की पासवान को मिलवाया था उसे संतोष कुमार की हत्या के लिए डेढ़ लाख रुपए में सुपारी दी थी।

विक्की की मां ने कहा- बेटे की लाश मांगी तो थानेदार ने थप्पड़ मारा

इधर विक्की पासवान की मां ने बेउर थानेदार अतुलेश कुमार पर थप्पड़ मारने का आरोप लगाया है। पूरे मामले का खुलासा होने के बाद बेटे की लाश लेने महिला अपनी बहू के साथ थाने पहुंची थी। आरोप है कि लाश देने की जगह उन्हें थानेदार ने थप्पड़ मार दिया। साथ ही गाली गलौज की। पुलिस के व्यवहार से गुस्साए परिवार ने अनीसाबाद गोलंबर पर प्रदर्शन किया। करीब एक घंटे तक रोड जाम रहा। स्कूल बस के साथ ही कैदियों से भरी गाड़ी भी जाम में फंस गई। पढ़ें पूरी खबर।