पटना में लूट और स्नेचिंग किए गए 34 मोबाइल बरामद:नशे का धंधा भी करते हैं पकड़े गए लुटेरे, 3 स्पोर्ट्स बाइक भी बरामद

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बड़े स्नेचर गैंग का पर्दाफाश। - Dainik Bhaskar
बड़े स्नेचर गैंग का पर्दाफाश।

रविवार का दिन पटना पुलिस के लिए बेहद खास रहा। राजधानी की सड़कों पर लूट की वारदातों को अंजाम देने वाले अपराधियों को पकड़ा। उनके द्वारा अंजाम दिए गए वारदातों का खुलासा किया। दिन में कोतवाली तो शाम में जक्कनपुर थाना ने गिरफ्तार लुटेरों को जेल भेजा। अब इस वक्त गर्दनीबाग थाना की पुलिस ने एक बड़ा खुलासा किया है। अपराधियों के एक ऐसे गैंग को पकड़ा है, जो राह चलते लोगों के कीमती मोबाइल फोन लूट लिया करता था या उसकी स्नेचिंग कर फरार हो जाया करता था। ये गैंग स्पोर्ट्स बाइक का इस्तेमाल करता था। गैंग के दो खास अपराधियों को पुलिस ने अपने कब्जे में लिया है। इनके पास से लूट और स्नेचिंग के 34 कीमती मोबाइल फोन को बरामद किया। जिसकी कीमत करीब 4 लाख रुपए होगी। इनके पास 3 स्पोर्ट्स बाइक भी बरामद किए गए हैं।

सरगना उर्फ विक्की।
सरगना उर्फ विक्की।

पुलिस ने पटना के जिस बड़े स्नेचर गैंग का पर्दाफाश किया है, उसका सरगना गाेलू उर्फ विक्की है। पुलिस ने इसके सहयोगी राजकुमार पासवान काे गिरफ्तार किया है। दरअसल, धीराचक का गोलू गाेलू और काैशलनगर का राजकुमार पैदल चलने वालों को निशाना बनाता था। पिछले 2 महीने में इस गैंग ने राहगीराें से ब्रांडेड कंपनी के 34 माेबाइल लूटे, महिलाओं के 3 पर्स को भी लूटा। जिसमें करीब एक लाख की ज्वेलरी भी थी। इन सब को पुलिस ने बरामद किया। साथ ही सवा किलाे गांजा, 14 पुड़िया ब्राउन शूगर भी मिला।पुलिस के अनुसार गाेलू और राजकुमार माेबाइल व ज्वेलरी काे बेच नहीं पाया था। इसलिए जब छापेमारी हुई तो दाेनाें के ठिकानाें से बरामद कर लिए गए। गाेलू और उसका गैंग गांजा, ब्राउन शूगर व स्मैक भी बेचता है।

थानेदार अरुण कुमार ने बताया कि गाेलू पर स्नेचिंग, चाेरी और नशीले पदार्थ बेचने के 3 केस दर्ज हैं। इन तीनाें केस में वह फरार चल रहा था। जबकि, राजकुमार पर काेई भी केस नहीं है। इसके गिराेह के 5 और शातिराें काे पुलिस तलाश रही है। ये गैंग अनीसाबाद, चितकाेहरा और धीराचक इलाके में बाइक, ऑटो, पैदल जाने वालाें लाेगाें से माेबाइल झपटता है। महिलाओं को भी अपना शिकार बनाता है।

खबरें और भी हैं...