कुख्यात रवि पेशेंट के ठिकाने खंगालने में 9 टीम जुटी:साख बचाने में जुटी पटना पुलिस, SS ज्वेलर्स डकैती कांड में बनी स्पेशल टीम

पटना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोना लुटेरा रवि पेशेंट की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
सोना लुटेरा रवि पेशेंट की फाइल फोटो।

SS ज्वेलर्स डकैती कांड पटना पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती बन गई है। राजनेताओं के साथ-साथ सर्राफा कारोबारियों ने बड़ा प्रेशर पटना पुलिस के ऊपर बना रखा है। बात अब पटना पुलिस के साख की है। जिसे बचाने की कवायद में SSP मानवजीत सिंह ढिल्लो जुट गए हैं। लूटे गए 14 करोड़ से अधिक का सोना और 14 लाख रुपए बरामद करने और इस कांड को अंजाम देने वाले अपराधियों को पकड़ने के लिए SSP ने 9 स्पेशल टीमें बना दी है, जो लगातार छापेमारी कर रही है। इस कांड में गिरफ्तार अपराधी साधू से पूछताछ में जो भी क्लू मिले हैं, उसकी निशानदेही पर ही जगह-जगह पर छापेमारी चल रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, अब तक पटना से लेकर जहानाबाद में कई जगहों को खंगाला जा चुका है।

रवि पेशेंट के ठिकानों के साथ ही खंगाले गए 100 से अधिक CCTV

कुख्यात सोना लुटेरा रवि गुप्ता उर्फ रवि पेशेंट पटना के आलमगंज में सादिकपुर इलाके का रहने वाला है। टीम ने आलमगंज से लेकर दीघा, पटना के दूसरे इलाकों, पटना के पास में पुनपुन, गौरीचक और फिर जहानाबाद में साधु के बताए गए ठिकानों पर छापेमारी की है।

सूत्र बताते हैं कि डकैती के बाद अपराधी सोना और कैश से भरे बैग को लेकर चिड़ैयाटाड़ पुल से कंकड़बाग, ओल्ड बाइपास के रास्ते भागे थे। यह बात तब सामने आई, जब वारदात स्थल से लेकर इनके भागने के रूट में लगे करीब 100 से अधिक CCTV कैमरों के फुटेज को खंगाला गया। अपराधियों के बाइक के नंबर भी पुलिस के पास आ चुके हैं। इसके आधार पर भी कुछ जगहों को अलग से खंगाला जा रहा है।

खुलकर नहीं बोले SSP

गिरफ्तार साधु के बयान, पुलिस सूत्रों के दावे और डकैती के वारदात को अंजाम देने के तौर-तरीकों से यह तो तय हो गया कि इसके पीछे कुख्यात सोना लुटेरा रवि पेशेंट और उसके गैंग का हाथ है। जब इस बारे में पटना के SSP मानवजीत सिंह ढिल्लो से बात की गई तो वो खुलकर कुछ भी नहीं बोले। वो बस इतना कह गए कि वारदात को अंजाम देने वाले अपराधी पटना और जहानाबाद के रहने वाले हैं। यह गैंग वाहन लूट की वारदातों को भी अंजाम दे चुका है। जब सवाल कुख्यात रवि पेशेंट को लेकर पूछा गया तो SSP ने जांच चल रही है कि बात कह चुप्पी साध ली। फिलहाल इस मामले में SS ज्वेलर्स के मालिक संजीव कुमार के बयान पर कदमकुआं थाना में डकैती, हत्या के प्रयास और आर्म्स एक्ट के तहत FIR दर्ज कर ली गई है।