• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • People's Anger Over Tax And Prepaid Meters In Patna, Increased Anger On Meters Running Out Of Control

पटना में टैक्स और प्रीपेड मीटर पर आक्रोश:कूड़ा और पानी टैक्स के लिए आंदोलन, काबू से बाहर भागते मीटर पर बढ़ा गुस्सा; जनता की समस्या से निपटने के लिए बना जन संघर्ष मोर्चा

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लोगों का कहना है कि स्मार्ट प्रीपेड बिजली मीटर से लोग परेशान हो रहे हैं। - Dainik Bhaskar
लोगों का कहना है कि स्मार्ट प्रीपेड बिजली मीटर से लोग परेशान हो रहे हैं।

कोरोना काल के बाद अब टैक्स की मार को लेकर लोगों में आक्रोश बढ़ रहा है। कूड़ा और पानी के टैक्स के साथ अब काबू से बाहर भाग रहा बिजली विभाग का प्रीपेड मीटर गुस्से का कारण बन रहा है। इसके खिलाफ अब धरना-प्रदर्शन की तैयारी चल रही है। इस लड़ाई के लिए जन संघर्ष मोर्चा बनाया गया है जो 16 सितंबर को सड़कों पर उतरेगा।

जनता की समस्या के लिए जन संघर्ष मोर्चा का गठन किया गया है। इसमें मोहल्ले से लेकर हर छोटी-बड़ी समस्या को लेकर संघर्ष किया जा रहा है। टैक्स की मार से लेकर बिजली के प्रीपेट मीटर को लेकर की जा रही जबरदस्ती को लेकर धरना की तैयारी की जा रही है। रविवार को मोर्चा के लोगों ने इसके खिलाफ लड़ाई की तैयारी की गई है। काजीपुर में CPI के कार्यालय में बैठक में लड़ाई को लेकर मंथन किया जा रहा है। पूर्व पार्षद और CPI नेता मोहन प्रसाद ने के साथ मोहल्ले के लोगों ने जन समस्या को लेकर आंदोलन व प्रदर्शन की रणनीति बनाई है।

टैक्स को लेकर परेशान हैं लोग
कूड़ा टैक्स, पानी टैक्स और स्मार्ट प्रीपेड बिजली मीटर जबरदस्ती लगाया जा रहा है। आम लोगों ने कहा कि पटना नगर निगम जनता से कूड़ा टैक्स, पानी टैक्स वसूलने में मस्त है और दूसरी तरफ निगम के सफाई कर्मचारी को उचित एवं समय से वेतन नहीं दी जा रही है। वेतन नहीं मिलने के कारण सफाई कर्मियों का परिवार संकट में है। उनकी हड़ताल से पूरा शहर परेशान है। निगम प्रशासन एवं नगर विकास विभाग के अड़ियल रवैया के कारण सफाई कर्मचारी पिछले सप्ताह से हड़ताल पर है जिसके कारण शहर के लोगों का जीवन सड़क पर पड़े कूड़े से नारकीय हो गया है।

प्रीपेड मीटर को लेकर आक्रोश
आंदोलन की रूपरेखा तैयार कर रहे लोगों का कहना है कि स्मार्ट प्रीपेड बिजली मीटर से लोग परेशान हो रहे हैं। पुराना इलेक्ट्रॉनिक मीटर की अपेक्षा नया स्मार्ट प्रीपेड मीटर ज्यादा यूनिट दिखाता है। जन संघर्ष मोर्चा ने सरकार से मांग की है कि पुराना इलेक्ट्रॉनिक मीटर को नहीं उखाड़े बल्कि पुराना इलेक्ट्रॉनिक मीटर के आगे स्मार्ट प्रीपेड बिजली मीटर को लगा दें, अगर दोनों मीटर एक समान लोड पर एक समान यूनिट उठाता है तो बाद में पुराना इलेक्ट्रॉनिक मीटर को उखाड़ ले जा सकते हैं लेकिन अभी तत्काल पुराना इलेक्ट्रॉनिक मीटर को उखाड़ना बंद कर।

आप नेता बबलू प्रकाश ने कहा कि पटना की जनता, बिजली विभाग और नगर निगम की मनमानी से तंग हो रही है। स्मार्ट मीटर को लेकर कई तरह की भ्रांतियां है। मोर्चा अपने तीन सूत्री मांगों को लेकर पहला कूड़ा टैक्स दूसरा पानी टैक्स तीसरा स्मार्ट प्रीपेड बिजली मीटर जबरदस्ती लगाने के खिलाफ 16 सितंबर को जन संघर्ष मोर्चा नाला रोड, दिनकर गोलंबर पर 11 बजे से एक दिवसीय सत्याग्रह करेगा।

खबरें और भी हैं...