पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कार्रवाई:चलती ट्रेन में लूटपाट करने वाले गिरोह के 4 बदमाश को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस ने एक लाख की ज्वेलरी, मोबाइल और 6 चाकू जब्त किए

मोकामा रेल पुलिस की टीम ने ट्रेन में लूटपाट करने वाले चार बदमाशों बख्तियारपुर के कुंदन, धनरुआ के श्रवण उर्फ संतोष, दनियावां के अमित प्रसाद और खुसरुपुर के उपेंद्र यादव को गिरफ्तार किया। उनके पास से 20 मोबाइल, कई चार्जर, 6 चाकू, 600 रुपए और करीब एक लाख की ज्वेलरी बरामद की गई। पुलिस ने सामान की बरामदगी उनके घर से की। छापेमारी के दौरान दो बदमाश मो. छोटू और धनंजय पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए। गिरफ्तार बदमाश पहले भी जेल जा चुके हैं। जांच में यह बात आई कि ये गिरोह बनाकर ट्रेन में लूटपाट करते हैं। रेल एसपी जगन्नाथ रेड्‌डी ने कहा कि उनसे पूछताछ की गई है। उनकी निशानदेही पर छापेमारी भी चल रही है।

औंटा हॉल्ट पर लूट की बना रहे थे प्लानिंग
गुरुवार की देर रात मोकामा जंक्शन के आरपीएफ प्रभारी अरविंद कुमार ने जीआरपी प्रभारी सुशील कुमार को सूचना दी कि कुछ संदिग्ध औंटा हॉल्ट के पास देखे गए हैं। इसके बाद सुशील कुमार और उनकी टीम ने औंटा हॉल्ट के पास घेराबंदी कर चार बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया।

वहीं दो फरार हो गए। जांच में यह बात आई कि छह बदमाश औंटा हॉल्ट के पास किसी ट्रेन के धीरे होने का इंतजार कर रहे थे। यहां वे किसी बोगी में घुसकर लूटपाट करते और फरार हो जाते। रेल डीएसपी राजेश वर्णवाल ने बताया कि फरार दो बदमाशों की भी पहचान कर ली गई है। गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है।
रेड बुल साॅफ्टवेयर बेचने वाले काे राेसड़ा जेल से रिमांड पर लाया गया

रेड बुल नामक साॅफ्टवेयर बेचने वाले रंजेश सहनी काे आरपीएफ की टीम ने रिमांड पर पटना लाया है। इस साॅफ्टवेयर काे एजेंट और दलाल खरीदते हैं और आईआरसीटीसी की साइट से ट्रेन का ई-टिकट बना कर ऊंचे दाम पर बेचते हैं। राेसड़ा जेल में बंद रंजेश काे रेल पुलिस रिमांड पर लेकर आई है। उससे पूछताछ करने में जुटी है।

पूछताछ के बाद इस गाेरखधंधे का बड़ा खुलासा हाे सकता है। दरअसल इसी माह की 23 तारीख काे रेल पुलिस ने कदमकुआं इलाके में रहने वाले राहुल चंद्रवंशी काे गिरफ्तार किया था। राहुल साॅफ्टवेयर इंजीनियर बताया जाता है, जबकि रंजेश रसायन शास्त्र में पीजी है। दाेनाें ने मिलकर रेड बुल एक्सटेंशन नामक साॅफ्टवेयर बनाया और बेचने लगा।

साॅफ्टवेयर से दाे मिनट में ही बन जाता है टिकट
इस साॅफ्टवेयर से दाे मिनट में ही टिकट बन जाता है। साॅफ्टवेयर की कीमत 800 से 10 हजार के बीच है। वैसे ये दाेनाें ज्यादातर एजेंटाें काे 8 साै से 4 हजार के बीच का साॅफ्टवेयर बेचते थे। 800 रुपए वाले साफ्टवेयर की वैधता एक सप्ताह हाेती है। 800 रुपए के इस पैकेज से हर दिन इससे दाे टिकट बनता है।

पिछले 10 दिनाें में रंजेश व राहुल ने 200 लाेगाें काे यह साॅफ्टवेयर बेचा था। रंजेश काे इसी आराेप में आरपीएफ ने सीतामढ़ी से गिरफ्तार किया और उसे राेसड़ा जेल भेज दिया था। राहुल काे जब आरपीएफ ने पटना में पकड़ा ताे उसने ही रंजेश का नाम बताया। उसके बाद राेसड़ा जेल से रेल पुलिस रिमांड पर लेकर आई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें