पुलिस ने दागे आंसू गैस, तो छात्रों ने बरसाए पत्थर:पटना के भिखना पहाड़ी में छात्र और पुलिस के बीच हिंसक झड़प, कई घायल

पटना4 महीने पहले
पटना के भिखना पहाड़ी में छात्र और पुलिस के बीच हिंसक झड़प। - Dainik Bhaskar
पटना के भिखना पहाड़ी में छात्र और पुलिस के बीच हिंसक झड़प।

सोमवार को राजधानी पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल पर चला हाई वोल्टेज ड्रामा मंगलवार को हिंसक झड़प में तबदील हो गया। रेलवे ट्रक पर प्रदर्शन करने से शुरू हुआ ये आंदोलन पटना के भिखना पहाड़ी में पत्थर बाजी तक आ पहुंचा। दरअसल, राजेंद्र नगर टर्मिनल पर आंदोलन के दौरान कई छात्र ट्रेनों के ऊपर चढ़ गए थे। काफी समझाने के बावजूद जब NTPC के अभ्यर्थी नहीं माने तो उनके ऊपर भारी दल बल के साथ पुलिस ने लाठीचार्ज और आंसू गैस का प्रयोग किया। ऐसे में आंदोलनकारी छात्र प्रदर्शन करते-करते पटना के भिखना पहाड़ी पहुंच गए। वहां भी प्रशासन के साथ उनकी तीखी नोक झोंक हो गई। मामला इतना संगीन हो गया कि छात्रों को रोकने के लिए एक बार फिर से आंसू गैस दागे गए। तो बदले में छात्रों ने भी पत्थर बाजी शुरू कर दी।

घटना को लेकर आक्रोशित छात्र सुमन कुमार ने कहा कि सरकार यह मान ले कि अगर हमारी मांग पूरी नहीं हुई तो आगे और भी बड़ा उग्र आंदोलन होने वाला है। हम लोग चुप नहीं बैठेंगे। वहीं, छात्र दीपू भट्ट ने बताया कि अब हम लोग उतर चुके हैं मतलब उतर चुके हैं अब रुकने वाले नहीं है। अब पुलिस की लाठी से डरने वाले नहीं है। देखते जाइए आगे क्या क्या होता है।

उधर, छात्र उज्ज्वल कुमार ने बताया कि हम लोग कल शांतिपूर्ण धरना दे रहे थे। हम लोगों की बस यही मांग थी कि RRB के बड़े अधिकारी से हम लोगों को मिलवा दिया जाए और जल्द से जल्द आश्वासन दिया जाए कि रिजल्ट ठीक कर दिया जाएगा। लेकिन पटना पुलिस ने हम लोगों को बेरहमी से पीटा, आंसू गैस भी बरसाए और हम लोगों को वहां से भगा दिया गया।

वहीं, मौके पर पहुंची राजद नेत्री ऋतु जयसवाल ने भी कहा कि राष्ट्रीय जनता दल इन अभ्यर्थियों के साथ है। यहीं नहीं बिहार में जितने भी अभ्यर्थी जिनके ऊपर पुलिस लाठी डंडे बरसा रही है, हम सब के साथ हैं। हम उनका हक दिलाने के लिए पूरी लड़ाई लड़ेंगे। वही छात्रों द्वारा पत्थर बरसाने के बाद एक बार मौके पर भारी संख्या में दल बल के साथ पुलिस प्रशासन की टीम वहां पहुंची।

घटना के संबंध में सिटी मजिस्ट्रेट ने कहा कि इन लोगों का मांग जायज है, लेकिन जिस तरह से ये लोग प्रदर्शन कर रहे है ये गलत है। हमने पहले ही छात्रों को कहा था कि हम उनकी बात RRB के अधिकारियों से करवा देंगे। लेकिन छात्रों के पास कोई ऐसा नेता नहीं है जो आगे आकर बात करें।