CM पर हमला, अफसरों के पास जवाब नहीं:पुलिस अधिकारियों की बोलती बंद, पटना पुलिस से मुख्यालय के अधिकारी तक नहीं उठा रहे फोन

पटना4 महीने पहले
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सुरक्षा में उनके अपने ही गृह क्षेत्र में बड़ी चूक हुई है। तमाम सरकारी सुरक्षा-व्यवस्था को तोड़कर एक युवक उनके पीछे पहुंच गया। जब नीतीश कुमार शीलभद्र की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर रहे थे। इस दौरान उनके पीछे पहुंचे युवक ने हमला कर दिया। अपने हाथ से मुख्यमंत्री के कंधे के दाहिने तरफ वार किया। यह युवक कुछ ऐसा करेगा, इसके बारे में वहां मौजूद पुलिस अफसर और जवानों ने ऐसा सोचा भी नहीं होगा।

जवाब देने को तैयार नहीं

इस घटना के बाद से पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों के होश उड़ गए हैं। किसी को समझ में नहीं आ रहा है कि इस घटना के बाद सुरक्षा में हुई चूक पर उठ रहे सवालों का जवाब क्या दें। सबसे बड़ा सवाल यह है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सुरक्षा में हुई चूक का जिम्मेवार कौन है? इस सवाल का जवाब जानने के लिए भास्कर ने पटना के ग्रामीण एसपी विनीत कुमार, एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो और बिहार पुलिस के ADG मुख्यालय जितेंद्र सिंह गंगवार को कॉल किया।

ग्रामीण एसपी का सरकारी नंबर ट्राय करने पर वो स्वीच ऑफ बता रहा था। एसएसपी और ADG ने रिंग होने के बाद भी कॉल रिसीव नहीं किया। इस घटना ने पुलिस अधिकारियों की बोलती बंद कर दी है।

बक्सर में काफिले पर हुआ था हमला

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इससे पहले भी निशाना बनाया जा चुका है। साल 2018 में नीतीश कुमार विकास यात्रा के दौरान बक्सर के नंदन गांव गए थे। जब सभा खत्म कर वो वापस लौट रहे थे, तब गांव के लोग गुजर रहे कारकेड के पास आ गए और पत्थरबाजी करने लगे थे।

उस वक्त यह मामला भी काफी तूल पकड़ा था। इसके बाद पुलिस ने गांव के लोगों पर लाठीचार्ज किया था। इस मामले में बक्सर के तत्कालीन एसपी राकेश कुमार को वहां से हटा दिया गया था।

खबरें और भी हैं...