पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना के थर्ड वेव से बच्चों को बचाने की तैयारी:बालगृह के बच्चों को मिलेगा ज्यादा प्रोटीन वाला खाना, समाज कल्याण विभाग ने बालगृहों को भेजा निर्देश

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांकेतिक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
सांकेतिक तस्वीर।

कोरोना के थर्ड वेव में बच्चों के स्वास्थ्य पर असर पड़ने की आशंकाओं के मद्देनजर समाज कल्याण विभाग ने सभी बालगृहों को विशेष निर्देश जारी किया है। विभाग की तरफ से सभी बालगृहों के बच्चों के खाने में प्रोटीन की मात्रा बढ़ाने के लिए कहा गया है। सरकार की तरफ से बच्चों के लिए पूरे राज्य में 76 होम चलाए जा रहे हैं।

खाने के मेन्यू में हाई प्रोटीन युक्त भोजन

समाज कल्याण विभाग की तरफ से बालगृहों को भेजे गए निर्देश में होम के बच्चों के खाने के मेन्यू में बदलाव करने के लिए कहा गया है। बच्चों को खाने में हाई प्रोटीन वाला खाना देने के लिए कहा गया है। अंडा, मांस, मछली और दूध से बने व्यंजन डेली डाइट में शामिल करने के लिए कहा गया है। इसके साथ ही इम्युनिटी बूस्टर के रूप में जिंक एवं विटामिन सी तथा मल्टी विटामिन के टैबलेट नियमित रूप से देने के लिए कहा गया है। कोरोना संक्रमण से होम के बच्चे बचे रहें, इसके लिए सरकार ने यहां काम करनेवाले कर्मचारियों के लिए पहले से ही जरूरी दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

कोरोना को लेकर बालगृहों को देनी है दैनिक रिपोर्ट

सरकार की तरफ से चलाए जाने वाले सभी बालगृहों को समाज कल्याण विभाग को अपनी डेली रिपोर्ट सौंपनी है। इस रिपोर्ट में कोरोना को लेकर होम में की जा रही बचाव व्यवस्थाओं की रिपोर्ट देनी है। बाहर से आने वाले कर्मियों को पहले हाथ-पैर धोकर और मास्क लगाकर प्रवेश ही कराना है। साथ ही उन्हें होम के अन्दर हमेशा मास्क लगाए रखना है।

सरकार की तरफ राज्य में बच्चों के लिए 6 तरह के होम

सरकार की तरफ राज्य में बच्चों के लिए 6 तरह के होम चलाए रहे हैं। इनमें 23 बालक गृह, 11 बालिका गृह, 14 पर्यवेक्षण गृह, 1 विशेष गृह, 25 विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान और 2 सुरक्षित स्थान हैं। इस तरह कुल 76 गृह चलाए जा रहे हैं। इन 76 गृहों में 2130 बच्चे रह रहे हैं, जिनमें 1569 लड़के और 561 लड़कियां शामिल हैं। समाज कल्याण विभाग के मुताबिक अब तक किसी भी होम के बच्चे में कोरोना संक्रमण का मामला सामने नहीं आया है।

खबरें और भी हैं...